ताज़ा खबर
 

100 बार चाकू से गोदा, दोनों आंखे भी फोड़ डालीं, लाश देखकर सिहर उठे पुलिसवाले

मामले पर एडीशनल डीसीपी एके लाल ने बताया कि, मृतक शानू कई आपराधिक मामलों में संलिप्त रहा है। हत्या की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है। हालांकि हमलावरों की पहचान हो गई है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली में एक ऐसा हत्या का मामला सामने आया जिसे देखकर पुसिलवाले भी सिहर उठे। यहां एक युवक की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। युवक को मारने के लिए चाकुओं से एक दो या तीन नहीं बल्कि 100 बार गोदा गया। पुलिस के मुताबिक, शरीर के हर हिस्से पर चाकुओं के निशान हैं। इतना ही नहीं, युवक की दोनों आंखों को भी चाकू ने फोड़ दिया गया। हालांकि अभी हमले और हत्या का मकसद नहीं पता चला है।

पुलिस के अनुसार, मृतक की पहचान 24 वर्षीय शानू के तौर पर हुई है। शानू आजादपुर की एमसीडी कालोनी में परिवार के साथ रहता था। बताया जा रहा है कि, मंगलवार को शानू की कुछ लड़को से बहस हो गई। कहासुनी बढ़ती ही रही। इस दौरान लड़कों ने शानू को घेर लिया और चाकुओं के गोद डाला। शानू पर हमले से इलाके में दहशत फैल गई। हमलावरों द्वारा शानू को उसी हालत में छोड़कर फरार होने के बाद उसे मैक्स हॉस्पिटल ले जाया गया। हालांकि अस्पताल में डॉक्टर ने तुरंत ही उसे मृत घोषित कर दिया।

वहीं, शानू की हत्या को लेकर पुलिस आपसी रंजिश या कोई व्यक्तिगत मामले की आशंका जाहिर कर रही है। मामले पर एडीशनल डीसीपी एके लाल ने बताया कि, मृतक शानू कई आपराधिक मामलों में संलिप्त रहा है। हत्या की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है। हालांकि हमलावरों की पहचान हो गई है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा चुका है।

बता दें कि, बीते दिनों दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन इलाके में एक अफगानी नागरिक मोहम्मद इशाक की घर में ही चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी। वह कैंसर से पीड़ित पिता के इलाज के लिए बीते एक महीने से ही दिल्ली में रह रहा था। मामले पर पुलिस ने बताया था कि, इशाक पर हमले के दौरान उसके पिता अस्पताल में थे। घर लौटकर उन्होंने घर का दरवाजा खुला पाया। अंदर जाकर देखा कि फर्श पर इशाक खून से लथपथ पड़ा है। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने उसे एम्स पहुंचाया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App