ताज़ा खबर
 

आनंद विहार बस अड्डे से मिले 96 लाख रुपए

पहाड़गंज में 70 लाख रुपए की बरामदगी के बाद अब दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार बस स्टेशन पर 96 लाख रुपए की नकदी पकड़ी है।

Author नई दिल्ली | November 20, 2016 5:42 AM
450 cr in a branch, axis bank chandani chowk,तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

कालेधन को रोकने के लिए 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने के फैसले का असर अब दिखने लगा है। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस को कई जगहों से भारी मात्रा में पुराने नोट मिलने शुरू हो गए हैं। पहाड़गंज में 70 लाख रुपए की बरामदगी के बाद अब दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार बस स्टेशन पर 96 लाख रुपए की नकदी पकड़ी है। पुलिस के मुताबिक यह रकम दिल्ली से गोरखपुर ले जाई जा रही थी। पुलिस ने रुपए ले जाने वालों से पूछताछ शुरू कर दी है।  पुलिस के मुताबिक, यह रकम दिल्ली से गोरखपुर ले जाई जा रही थी। इस मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया है। पुलिस जांच कर रही है कि यह रकम किस कारण से यहां से भेजी जा रही थी। कहीं यह पैसा बदलवाने की नीयत से तो नहीं भेजा जा रहा था या फिर आरोपी कालेधन को सफेद कराने की फिराक में लगे थे। इससे पहले पहाड़गंज इलाके में भी करीब 70 लाख रुपए बरामद कर पुलिस ने इसे भी नोटबंदी से जोड़कर जांच शुरू की थी। यह रकम एक डॉक्टर के पास से बरामद हुई थी। उसकी कार में रुपए से भरा बैग था।
इसी तरह का एक मामला जहांगीरपुरी में भी सामने आया है, जो पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ है। बताया जा रहा है कि जब एक महिला पुराने नोटों को पुलिस द्वारा ही हजम करने की शिकायत लेकर थानेदार के पास पहुंची तो उसे नशेड़ी साबित कर पुलिस ने 24 घंटे तक थाने में बिठाए रखा। बाद में उसे दो लाख रुपए का लालच भी दिया। पुलिस से छिपते-छिपाते महिला उत्तर-पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त के पास पहुंची और उन्हें सारी बात बताई। शिकायतकर्ता महिला अशमीना शेख जहांगीरपुरी इलाके में पान की दुकान चलाती है।

जानिए ATM और बैंकों के बाहर कतारों में खड़े लोग क्या सोचते हैं नोटबंदी के बारे में

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: एटीएम के सॉफ्टवेयर बदलने की रफ्तार बेहद धीमी, लोग हो रहे हैं परेशान
2 दिल्ली: खूब कटे यातायात चालान
3 टेरी के पूर्व प्रमुख आर के पचौरी को फिर विदेश यात्रा की इजाज़त
ये पढ़ा क्या?
X