3 terrorists arrested from Jammu, Delhi and Karnataka - दिल्ली, जम्मू और कर्नाटक से दबोचे गए तीन आतंकी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली, जम्मू और कर्नाटक से दबोचे गए तीन आतंकी

राष्ट्रीय जांच एजंसी (एनआइए) और अन्य सुरक्षा एजंसियों ने सोमवार को जम्मू, दिल्ली और कर्नाटक में तीन आतंकवादियों को धर दबोचा।

Author नई दिल्ली, 6 अगस्त। | August 7, 2018 6:40 AM
अगले कुछ दिनों में कई और आतंकवादियों की गिरफ्तारी की जा सकती है।

राष्ट्रीय जांच एजंसी (एनआइए) और अन्य सुरक्षा एजंसियों ने सोमवार को जम्मू, दिल्ली और कर्नाटक में तीन आतंकवादियों को धर दबोचा। अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन अल कायदा, जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा से जुड़े तीनों आतंकी नई दिल्ली और कश्मीर समेत देश के विभिन्न राज्यों में स्वाधीनता दिवस के मौके पर आतंकी साजिश को अंजाम देने की तैयारी में थे। एनआइए और खुफिया एजंसियों से मिली जानकारी के हवाले से गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि लश्कर ए तैयबा, जैश ए मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिदीन ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आतंकी हमले की साजिश रची थी और आतंकियों को हमले से संबंधित अलग-अलग काम सौंपे गए थे। अगले कुछ दिनों में कई और आतंकवादियों की गिरफ्तारी की जा सकती है।

एनआइए ने नई दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से लश्कर ए तैयबा के एक बड़े कमांडर हबीबुर रहमान को रविवार देर रात पकड़ा। वह सऊदी अरब से यहां पहुंचा था। रहमान ओड़ीशा के केंद्रपाड़ा का रहने वाला था और फिलहाल सऊदी अरब के रियाद में रह रहा था। लश्कर के आतंकी अब्दुल नईम का आका रहे रहमान के यहां आने की तैयारियों के बारे में एनआइए को सऊदी अरब की सुरक्षा एजंसियों ने इत्तला दे दी थी। एनआइए के अधिकारियों ने बताया कि रहमान को सऊदी अरब से पहुंचने पर गिरफ्तार कर लिया गया।

बंगलुरू के रामनगर से पकड़े गए आतंकी का नाम मुनीर बताया जाता है। वह पिछले तीन महीने से कर्नाटक के विभिन्न मंदिरों और मसजिदों की रेकी कर फोटोग्राम जमा कर रहा था। उसके पास से संवेदनशील नक्शे, लैपटॉप और करंसी बरामद की गई है। उधर, जम्मू से सोमवार देर रात अरफान वानी को पकड़ा गया। उसके पास से आठ ग्रेनेड बरामद किए गए। नई दिल्ली में एनआइए की टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया हबीबुर रहमान, लश्कर के आतंकी शेख अब्दुल नईम उर्फ नोमी का कथित आका बताया जाता है। नईम को 2007 में उस समय गिरफ्तार किया गया था, जब वह एक कश्मीरी और दो पाकिस्तानी आतंकवादियों को बांग्लादेश की सीमा के जरिए भारत में घुसपैठ कराने में मदद की कोशिश कर रहा था। नईम अगस्त 2014 में पुलिसकर्मियों को चकमा देकर तब हिरासत से फरार हो गया था, जब उसे कोलकाता से महाराष्ट्र में अदालत में पेशी के लिए ले जाया जा रहा था।

हिरासत से फरार होने के बाद नईम का हौसला बढ़ गया। वह पाकिस्तान और सऊदी अरब में बैठे अपने आकाओं के इशारे पर सक्रिय रहा। इन लोगों ने नईम को उन ठिकानों की पहचान करने का जिम्मा सौंपा गया जहां आतंकी हमले किए जा सकते हों। साजिश को अंजाम देने के लिए नईम ने विभिन्न फर्जी पहचान पत्र बनवाए और जम्मू कश्मीर व हिमाचल प्रदेश सहित विभिन्न राज्यों का दौरा किया और आतंकी हमलों के लिए संभावित ठिकानों की टोह ली। हबीबुर रहमान ने पाकिस्तान में बैठे लश्कर कमांडर अमजद उर्फ रेहान के निर्देशों पर नईम के ठहरने के लिए ठिकानों और पैसे का इंतजाम किया। नईम को एनआइए ने नवंबर 2017 में गिरफ्तार कर लिया और उसे हबीबुर रहमान सहित 10 सह-आरोपियों के साथ आरोपी बनाया है।

सोमवार को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दावा किया कि उसने एक आतंकवादी को गिरफ्तार कर दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस समारोह में खलल डालने के अंसार गजवत उल हिंद आतंकी संगठन के प्रयास को विफल कर दिया है। जम्मू में आठ ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार किए गए इस आतंकवादी से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल भी पूछताछ करेगी। दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतिपुरा के रहने वाले अरफान वानी के पास 60,000 रुपए नकद भी बरामद किए गए। जम्मू में रविवार देर रात पुलिस ने गांधी नगर क्षेत्र में एक बस को रोककर वानी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस महानिरीक्षक (जम्मू) एसडीएस जामवाल के मुताबिक, उसे चत्री प्वाइंट पर संदिग्ध परिस्थितियों में घूमते देखकर पकड़ा गया। वह ग्रेनेड का जखीरा किसी को सौंपने दिल्ली जा रहा था। इन हथगोलों का इस्तेमाल स्वतंत्रता दिवस में खलल डालने के लिए किया जाना था। वह पिछले एक साल से आतंकवाद में सक्रिय था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App