ताज़ा खबर
 

अमेजन से मुफ्त में ले लिए 166 कीमती स्मार्टफोन! जानें किस शातिराना ढंग से लगाया चूना

दिल्ली पुलिस ने फिलहाल शिवम को अमेजन को ठगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि शिवम ने इस साल अप्रैल से मई के बीच अमेजन से 50 लाख रुपए ठग लिए थे।
Author नई दिल्ली | October 11, 2017 13:47 pm
अमेजन से मुफ्त में ले लिए 166 कीमती स्मार्टफोन (प्रतिकात्मक तस्वीर)

21 साल के एक लड़के ने बड़ी ही आसान सी ट्रिक अपनाकर अमेजन को लाखों रुपए का चूना लगा दिया। दिल्ली के शिवम चोपड़ा ने एक नहीं बल्कि 166 बार अमेजन को ठगा। शिवम चोपड़ा ने अमेजन से 166 महंगे स्मार्टफोन्स ऑर्डर किए और हर बार फोन मिल जाने के बाद यह शिकायत दर्ज कराई कि कंपनी उसे खाली डिब्बे भेज रही है, ऐसे में उसे फोन भी मिल जाता था और जितनी कीमत का फोन होता था उतने ही पैसे उसे मिल जाते थे। ये ट्रिक अपनाकर शिवम ने लाखों रुपए कमा लिए थे।

दिल्ली पुलिस ने फिलहाल शिवम को अमेजन को ठगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि शिवम ने इस साल अप्रैल से मई के बीच अमेजन से 50 लाख रुपए ठग लिए थे। जब अमेजन को शिवम के ऊपर शक हुआ तो उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत की गई, जिसके बाद पुलिस ने शिवम को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि अभी तक उन 166 स्मार्टफोन्स की बरामदगी नहीं हुई है।

नॉर्थ दिल्ली के त्रि नगर इलाके में रहने वाले शिवम ने होटल मैनेजमेंट किया है। उसने कुछ दिनों तक एक होटल में भी काम किया था, फिलहाल वह बेरोजगार है। पुलिस ने बताया कि शिवम ने फोन को ऑर्डर करने के लिए शिवम ने 150 सिम कार्ड खरीदी थीं। शिवम के अलावा उसके दोस्त सचिन जैन को भी इस धोखाधड़ी में साथ देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

डिजीपी मिलिंद महादेव ने बताया, ‘शिवम ने अमेजन इंडिया कंपनी से धोखाधड़ी की है। वह स्मार्टफोन्स ऑर्डर करता था और ऑर्डर मिल जाने पर यह शिकायत करता था कि उसे खाली डिब्बे दिए गए हैं, जिसके बाद फोन के पैसे अमेजन उसे रिफंड करता था। वह आईफोन और सैमसंग जैसे महंगे फोन ऑर्डर करता था, ताकि उसे रिफंड भी ज्यादा मिले। कंपनी ने आरोप लगाया है कि शिवम अब तक 166 स्मार्ट फोन ऑर्डर कर चुका था। सभी ऑर्डर्स गिफ्ट कार्ड के जरिए खरीदे जाते थे, बाद में उन्हें कैंसिल कर दिया जाता था और रिफंड मांगा जाता था। रिफंड भी गिफ्ट कार्ड के माध्यम से दिया जाता था।’

पुलिस ने बताया कि शिवम हर बार गलत और अलग-अलग पते देता था, सभी एड्रेस उसी इलाके में होते थे जहां वह असल में रहता था। जब डिलीवरी ब्वॉय ऑर्डर लेकर दिए गए पते पर पहुंचता था तब पाता था कि वह एड्रेस गलत है, ऐसे में ऑर्डर करने वाले व्यक्ति को कॉल करता था, जिसके बाद शिवम डिलीवरी ब्वॉय को गाइड करता था और सही एड्रेस तक आने का रास्ता बताता था।

[jwplayer 1hhQXGVT-gkfBj45V]

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.