ताज़ा खबर
 

आतंकी हमले में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग के शीर पोरा में शुक्रवार को सीआरपीएफ की टुकड़ी पर आंतकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी की। इस घटना में दो जवान शहीद हो गए।

Author नई दिल्ली, 13 जुलाई। | July 14, 2018 5:22 AM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग के शीर पोरा में शुक्रवार को सीआरपीएफ की टुकड़ी पर आंतकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी की। इस घटना में दो जवान शहीद हो गए। हमले के बाद आतंकवादी फरार हो गए। सुरक्षाबलों ने इलाके में गहन तलाशी अभियान शुरू किया है। शीर पोरा के अछाबल चौक पर ड्यूटी पर तैनात सीआरपीएफ की टुकड़ी पर आतंकवादियों ने लगातार 10 मिनट तक गोलियां बरसाईं। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने ली है। इस हमले में एक सीआरपीएफ कर्मी और एक स्थानीय नागरिक घायल हो गए हैं।

शहीद हुए सीआरपीएफ कर्मियों की पहचान सहायक उप निरीक्षक एमएल मीणा और कांस्टेबल संदीप कुमार यादव के तौर पर हुई है। घायल सीआरपीएफ कर्मी का नाम मदन कुमार और नागरिक की पहचान गुलाम रसूल के रूप में हुई है। इस हमले के बाद लश्कर ए तैयबा के प्रवक्ता अब्दुल्ला गजनवी ने मीडिया को भेजे एक ई-मेल में कहा, ‘लश्कर-ए-तैयबा ने अछाबल चौक पर सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया।’ गृह मंत्रालय के अनुसार, शुक्रवार सुबह 10:55 बजे सीआरपीएफ की 96वीं वाहिनी की डेल्टा कंपनी के जवानों का एक दल नियमित आरओपी (रोड ओपनिंग पार्टी) डयूटी के तहत अछाबल चौक पर था। अचानक वहां वाहनों में पहुंचे आतंकियों ने जवानों पर हमला करते हुए अपने स्वचालित हथियारों से गोलीबारी कर दी।

10 मिनट तक इनलोगों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं और भाग निकले। आतंकियों के हमले में तीन सीआरपीएफ कर्मी और एक स्थानीय नागरिक गोली लगने से जख्मी हो जमीन पर गिर पड़े। अन्य जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर करना चाहा। लेकिन गोलियों की आवाज से वहां फैली अफरातफरी में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भागते देख जवानों ने नागरिक क्षति से बचने के लिए संयम बरता इस बीच आतंकी भाग निकले। आतंकी हमले की सूचना मिलते ही आस-पास के शिविरों में मौजूद अन्य सुरक्षाबल भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने घायलों को निकटवर्ती अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली। घायलों को पहले अछाबल अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने एएसआइ एमएल मीणा को शहीद करार दे दिया। अन्य सीआरपीएफ कर्मियों संदीप कुमार व मदन कुमार को प्राथमिक उपचार के बाद श्रीनगर स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल भेजा गया, जहां कुछ देर बाद संदीप कुमार ने भी दम तोड़ दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App