ताज़ा खबर
 

1984 सिख विरोधी दंगे: बंद किए गए 186 मामले दोबारा खुलेंगे, सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्‍यीय SIT करेगी जांच

तत्कालीन प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की हत्या के बाद हुए दंगों से संबंधित इन मामलों की जांच बंद कर दी गई थी।

Author Published on: January 10, 2018 3:41 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस के लिए ताशी)

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (10 जनवरी, 2017) को साल 1984 के सिख विरोधी दंगों से संबंधित 186 मामलों की जांच दोबारा किए जाने का निर्देश दिया है। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार दंगों की जांच के लिए हाईकोर्ट के पूर्व जजों की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय नए विशेष जांच दल का गठन किया जाएगा। दरअसल तत्कालीन प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी की हत्या के बाद हुए दंगों से संबंधित इन मामलों की जांच बंद कर दी गई थी। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड की खंडपीठ ने कहा कि हाईकोर्ट के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली इस प्रस्तावित समिति में पुलिस का एक सेवानिवृत्त और एक कार्यरत अधिकारी शामिल किया जाएगा।

पीठ ने यह भी स्पष्ट किया कि सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी सेवानिवृत्ति के समय पुलिस उपमहानिरीक्षक से नीचे के पद पर नहीं होना चाहिए। शीर्ष अदालत ने कहा कि उसके द्वारा नियुक्त समिति ने 241 मामलों में से 186 मामलों को जांच के बगैर ही बंद कर दिया गया। न्यायालय ने समिति द्वारा पेश रिपोर्ट का अवलोकन किया, जिसे चमडे के बाक्स में पेश किया गया था। इस बाक्स में ताले की नंबर वाली प्रणाली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ED को अदालत ने लगाई फटकार, पूछा-जाकिर नाइक जैसी तेजी आसाराम जैसे बाबाओं के मामले में क्यों नहीं दिखाई
2 अरविंद केजरीवाल और कुमार विश्‍वास में दूरियां बढ़ीं, दिल्‍ली सरकार के कवि सम्‍मेलन में न्‍योता नहीं