ताज़ा खबर
 

जीबी रोड से छुड़ाई गर्इं 16 नाबालिग लड़कियां

जीबी रोड इलाके में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब अपराध शाखा और कमला मार्केट थाना पुलिस की संयुक्त टीम दबिश के लिए पहुंची।
Author नई दिल्ली | January 14, 2018 04:02 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जीबी रोड इलाके में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब अपराध शाखा और कमला मार्केट थाना पुलिस की संयुक्त टीम दबिश के लिए पहुंची। पुलिस ने दो विभिन्न कोठों से 16 नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया।  पूछताछ में पता चला कि इन सभी लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर दिल्ली लाया गया था। बाद में सभी को कोठे पर दलालों की मदद से बेच दिया गया था। पुलिस ने कोठे की एक संचालिका को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक इन लड़कियों से कोठा नंबर-56 और 70 में जबरन देह व्यापार करवाया जा रहा था।

सूचना के आधार पर अपराध शाखा के उपायुक्त ज्वॉय टर्की के नेतृत्व में स्थानीय कमला मार्केट थानाध्यक्ष सुनील ढाका, मनोज त्यागी समेत अन्य पुलिसकर्मियों की टीम गठित की गई। टीम ने उक्त सूचना पर शुक्रवार को कोठा नंबर-70 पर छापेमारी की। यहां से छह लड़कियों को मुक्त कराया गया, जबकि 56 नंबर कोठा से 10 लड़कियों को छुड़ाया। सभी का बयान दर्ज करने के बाद नारी निकेतन में भेज दिया गया है।

 

नहर में गिरी युवती को सीआरपीएफ जवानों ने बचाया

नरेला इलाके में मुनक नहर में शनिवार सुबह एक युवती डूब गई। पर गनीमत यह रही कि कुछ ही दूरी पर तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान प्रमोद कुमार की नजर यवुती पर पड़ गई और उसने अन्य जवानों की मदद से उसे बचा लिया।
युवती की पहचान मूल रूप से उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की रहने वाली 18 साल की लक्ष्मी के रूप में हुई है। युवती अपने परिवार के साथ नरेला इलाके में रहती है। नरेला में स्थित सीआरपीएफ भवन के पीछे के हिस्से में सिपाही प्रमोद कुमार ड्यूटी कर रहे थे, तभी उन्होंने देखा कि एक युवती मुनक नहर में डूब रही है। उन्होंने समय रहते युवती का हाथ पकड़ लिया। उसके बाद आवाज लगाकर अपने सहयोगियों को बुला लिया, जिसके बाद हेडकांस्टेबल केडी शर्मा और एसएसआइ केसी मीणा के सहयोग से युवती को डूबने से बचा लिया गया। युवती को सीआरपीएफ के जवानों ने प्राथमिक उपचार देकर पास के महर्षि वाल्मिीकि अस्पताल भेजा दिया।
बताया जा रहा है कि युवती अब खतरे से बाहर है। घटना के समय सुबह करीब 11 बजे वह नहर के पास से गुजर रही थी, तभी अचानक से उसका पैर फिसल गया और नहर में डूब गई। इससे पहले भी बीते साल सीआरपीएफ के जवानों ने तीन नागरिकों की जान बचाई थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.