ताज़ा खबर
 

एम्स के नर्सिंग छात्रों ने परीक्षा में बैठने को किए फर्जी दस्तखत

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के नर्सिंग छात्रों ने परीक्षा में बैठने की जरूरी अहर्ताएं पूरी न होने की सूरत में अपने शिक्षकों के फर्जी दस्तखत करके परीक्षा में बैठने का फर्जीवाड़ा किया है।
Author नई दिल्ली | June 7, 2016 03:10 am
AIIMS का फाइल फोटो

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के नर्सिंग छात्रों ने परीक्षा में बैठने की जरूरी अहर्ताएं पूरी न होने की सूरत में अपने शिक्षकों के फर्जी दस्तखत करके परीक्षा में बैठने का फर्जीवाड़ा किया है। इस बारे में शिक्षकों की ओर से लिखित शिकायत के बावजूद नर्सिंग कालेज की प्राचार्य मंजू वत्स कोई संज्ञान नहीं लिया और छात्रों को परीक्षा में बैठने दिया।

यह आरोप जनहित अभियान संस्था की ओर से लगाए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जयप्रकाश नड्डा को दिए लिखित शिकायत में संस्था ने कहा कि बड़ी संख्या में नर्सिंग छात्रों ने कालेज की परीक्षा में बैठने के लिए शिक्षकों के फर्जी दस्तखत किए। उपस्थिति या एक्टिविटी चार्ट में छात्रों मौजूदगी कम होने पर ऐसे छात्रों को परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं थी। छात्रों ने फर्जी दस्तखत करके परीक्षा में बैठने का रास्ता निकाला।

फर्जीवाड़े का पता चलने पर शिक्षकों ने इसकी शिकायत की और लिखित रूप से इसका विरोध भी किया। बावजूद इसके प्राचार्य मंजू वत्स इस पर कोई ध्यान नहीं दिया और छात्रों को चुपचाप परीक्षा मे बैठने दिया। नियमत: 80 फीसद उपस्थिति अनिवार्य है। जो यह शर्त पूरी नहीं कर पाते उनके लिए विशेष परिस्थिति में मंजूरी देने का अधिकार केवल डीन के पास है। एम्स प्रवक्ता डॉक्टर अमित गुप्ता ने कहा है कि मामले की जांच होगी और दोषी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.