ताज़ा खबर
 

नेहरू, वाजपेयी के खिलाफ दिया था जहरीला भाषण, AAP नेता आशुतोष के खिलाफ होगी एफआईआर

आशुतोष पर आरोप है कि साल 2016 में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को लेकर आपत्तिजनक बयानबाजी की थी। पत्रकार से राजनेता बने आशुतोष ने एक अन्य आप नेता संदीप कुमार का बचाव किया था, जिन्हें रेप को आरोपों के चलते पार्टी से निकाल दिया गया था।

आप नेता आशुतोष। (एक्सप्रेस फोटोः अमित मेहरा)

आम आदमी पार्टी (आप) के नेता आशुतोष की मुश्किलें बढ़ गई हैं। नई दिल्ली में एक अदालत ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी किया है। सोमवार (सात मई) को रोहिणी की अदालत ने यह आदेश उस मामले में दिया है, जिसमें आप नेता ने भारतीय राजनीति के क्षेत्र में नायक माने वाले नेताओं के खिलाफ जहरीला भाषण दिया था। इनमें तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और जवाहर लाल नेहरू शामिल थे।

आपको बता दें कि आशुतोष पर आरोप है कि साल 2016 में उन्होंने पूर्व पीएम वाजपेयी और देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को लेकर आपत्तिजनक बयानबाजी की थी। पत्रकार से राजनेता बने आशुतोष ने एक अन्य आप नेता संदीप कुमार का बचाव किया था, जिन्हें रेप को आरोपों के चलते पार्टी से निकाल दिया गया था।

आशुतोष ने तब कुमार के बचाव में अपने एक ब्लॉग के जरिए यह तक कहा था कि महात्मा गांधी और नेहरू के संबंध भी महिलाओं से रहे थे। संदीप से संबंधित तब एक सीडी सामने आई थी, जिसमें वह एक महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में नजर आ रहे थे।

आप नेता ने इसी को लेकर पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री के फैसले के विपरीत बयान दिया था। आशुतोष ने कहा था, “संदीप ने कुछ भी गलत नहीं किया है।” एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने इस बाबत पुष्टि करते हुए कहा, “हमें आशुतोष के खिलाफ शिकायत मिली है। फिलहाल आगे के कदम पर विचार-विमर्श किया जा रहा है। हालांकि, अभी तक किसी प्रकार का मामला नहीं दर्ज हुआ है।”

गांधी, नेहरू, वाजपेयी और जॉर्ज फर्नांडिस के खिलाफ जहरीले भाषण देने के बाद आशुतोष के विपक्षी दलों ने आड़े हाथों लिया था। यही नहीं, उन्हीं की पार्टी (आप) के कई नेताओं ने आशुतोष की विवादित टिप्पणी पर आपत्ति जताई थी।

दिल्ली पुलिस ने तब आप नेता के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। उत्तरी पूर्वी दिल्ली स्थित ज्योति नगर थाने में इस मामले की शिकायत दर्ज हुई थी, जिसमें कहा गया था कि आशुतोष का मानसिक चेक-अप कराया जाना चाहिए और उनके खिलाफ संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App