scorecardresearch

किसान की मौत के बाद डेड बॉडी लेकर बैंक पहुंचे पड़ोसी, अंतिम संस्कार के लिए अकाउंट में पड़े पैसे मांगे

बिहार के एक गांव में किसान की लाश को उसके पड़ोसियों ने बैंक में ले जाकर दाह संस्कार के लिए पैसे मांगे।

Representational Image
प्रतीकात्मक तस्वीर।

बिहार के एक गांव में किसान की लाश को उसके पड़ोसियों ने बैंक में ले जाकर दाह संस्कार के लिए पैसे मांगे। ये जानकारी पुलिस ने गुरुवार को दी। 55 वर्षीय महेश यादव का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार की सुबह निधन हो गया था। उनके परिवार में उनके सिवाय कोई नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि किसान का शव कई घंटे बाद पड़ोसियों को मिला था।

ग्रामीणों ने मृतक के अंतिम संस्कार के लिए घर में क़ीमती सामान ढूंढा लेकिन लेकिन उन्हें कुछ भी नहीं मिला। हालांकि ग्रामणों को मृत किसान के बैंक की पासबुक मिली। जिससे पता चला कि उसके खाते में 1,17,298.28 रुपए थे। दोपहर में गांव वाले पासबुक समेत यादव की लाश बैंक ले गए।

उन्होंने ब्रांच मैनेजर से कहा कि किसान का पैसा उसके अंतिम संस्कार के लिए दिया जाए नहीं तो वे वहां से नहीं जाएंगे। पुलिस ने बताया, “ग्रामीणों ने मांग की कि बैंक किसान के दाह संस्कार के लिए उसके खाते से पैसे दे नहीं तो वे उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।”

इसके बाद बैंककर्मियों के हाथ पांव फूल गए। आखिरकार पुलिस के हस्तक्षेप के बाद बैंक ने कुछ पैसे दिए। केनरा बैंक के ब्रांच मैनेजर संजीव कुमार ने कहा कि असाधारण स्थिति बन गई थी। यह ऐसा पहला मामला था।

उन्होंने बताया, ”एक घंटे के बाद, मैंने उन्हें पैसे दिए और फिर वे लाश को श्मशान घाट ले गए।” मृतक की पड़ोसी शकुंतला देवी ने कहा कि मृतक के पास कोई जमीन नहीं थी और उन्हें सरकार से कोई मदद भी नहीं मिलती थी।

उन्होंने बताया, “उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं था,वह महीनों से बीमार थे। हम उसे खाना और अन्य चीजें दे दिया करते थे।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट