ताज़ा खबर
 

रिहायशी इलाकों में उद्योग को लेकर दिल्ली सरकार को मिला NGT का नोटिस, 15 मई से पहले मांगा जवाब

रिहायशी इलाकों में स्थित अवैध औद्योगिक इकाईयों के खिलाफ यहां के एक निवासी द्वारा दायर याचिका पर आज राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने दिल्ली सरकार और अन्य से जवाब मांगा ।

Author नई दिल्ली | Updated: April 18, 2017 3:56 PM
Arvind Kejriwal, EVMs, Voting machines, Tampering with EVM, MCD poll, AAP, aam aadmi party, MCD elections 2017, delhi newsदिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (फाइल)

रिहायशी इलाकों में स्थित अवैध औद्योगिक इकाईयों के खिलाफ यहां के एक निवासी द्वारा दायर याचिका पर आज राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने दिल्ली सरकार और अन्य से जवाब मांगा । न्यायमूर्ति जवाद रहीम की अध्यक्षता वाली पीठ ने दिल्ली सरकार, केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति, दिल्ली जल बोर्ड, बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड और अन्य को नोटिस जारी करके 15 मई से पहले जवाब देने को कहा हैै। अधिकरण दरियागंज निवासी मोहम्मद शारिक द्वारा दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी। शारिक ने इलाके में स्थित अवैध कारखानों के खिलाफ कार्रवाई और ऐसी इकाईयों को सील करने की मांग की है। साथ ही ऐसी अनधिकृत इकाईयों का संचालन करने वालों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई शुरू करने के लिए निर्देश देने की भी मांग की गयी ।

इसमेंं दावा किया गया है कि दिल्ली के लोक शिकायत आयोग और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड, उत्तर दिल्ली नगर निगम द्वारा जारी किये गये कई पत्रों के बावजूद अवैध कारखानों का संचालन नहीं रूका है । यहां आवासीय क्षेत्र में चल रहे अवैध औद्योगिक इकाईयों के खतरे से नाराज एनजीटी ने पूर्व में केन्द्र और दिल्ली सरकार को तत्काल ऐसी सभी अवैध इकाईयों को बंद करने का निर्देश दिया था।

हरित अधिकरण ने गैर अनुरूप क्षेत्रों में औद्योगिक इकाईयों को बंद करने को लेकर उच्चतम न्यायालय के 2004 के आदेश को लागू करने के लिए दिल्ली सरकार को निर्देश दिया था और बीएसईएस और दिल्ली जल बोर्ड को ऐसी इकाईयों में तत्काल बिजली पानी की आपूर्ति बंद करने का निर्देश दिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शाजिया इल्‍मी का आरोप- आप समर्थक कर रहे गंदी टिप्‍पणियां, दर्ज कराएंगी एफआईआर
2 राजस्थान यूनिवर्सिटी पेपर लीक मामले में 11 आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा
3 योगी आदित्यनाथ ने ये साबित किया है कि नेतृत्व ईमानदार-कर्मठ हो तो जनहित के कार्य करने को बाध्य होते हैं नौकरशाह: भाजपा
IPL 2020 LIVE
X