ताज़ा खबर
 

किसानों को भी बांट रही ‘गोदी मीडिया’, पत्रकार रवीश कुमार का तंज- अब भारत का ना रहा अन्नदाता

एनडीटीवी के शो प्राइम टाइम के एंकर रवीश कुमार ने कहा कि 'गोदी मीडिया' फूट डालने के लिए किसानों को पंजाब का किसान कहने लगा है।

NDTV journalistपत्रकार रवीश कुमार की पोस्ट सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। (ट्विटर)

किसान आंदोलन को कवर करने के मुद्दे पर पत्रकार रवीश कुमार ने ‘गोदी मीडिया’ पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पहले किसान भारत का होता था मगर अब पंजाब और हरियाणा का होने लगा है। एनडीटीवी के शो प्राइम टाइम के एंकर रवीश ने कहा कि ‘गोदी मीडिया’ फूट डालने के लिए किसानों को पंजाब का किसान कहने लगा है।

पत्रकार रवीश ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘दिल्ली पंजाब हरियाणा और यूपी के ही किसान आते थे। इन्हें किसान कहा जाता था। ‘गोदी मीडिया’ फूट डालने के लिए इन्हें पंजाब का किसान कहने लगा है। पंजाब का बता कर खालिस्तानी कहने लगा है। जब बेरोजगारों ने 17 सितंबर को आंदोलन किया तो उसे भी कवरेज से गायब कर दिया गया। लाखों ट्वीट कराने के बाद भी बेरोजगार सुशांत सिंह राजपूत के कवरेज का 0.1 प्रतिशत कवेरज हासिल नहीं कर सके। धीरे धीरे देखते जाइए इस मीडिया को आगे करते कैसे लोकतंत्र कुचला जा रहा है। हर बात में जनता ही दोषी है बता कर यह मीडिया सरकार से सवाल नहीं करता है। सवाल होने नहीं देता है।’

पोस्ट में आगे लिखा गया कि सरकार के भीतर बन रहे तमाम रिपोर्ट में मंडी और एम एस पी खत्म किए जाने की बातें खुलेआम होती रही हैं। रिपोर्ट लांच किए गए। मंडी और एम एस पी खत्म करने की बात रिपोर्ट में दर्ज है। सोच में दर्ज है। सरकार कहती है कि एम एस पी खत्म नहीं होती इस पर भरोसा कर लो। जबानी भरोसा देना चाहती है। ये भरोसा देकर प्रधानमंत्री कहे जा रहे हैं कि ये कुछ किसान हैं। इन्हें भरमा दिया गया है। सड़क पर बैठा किसान गुमराह नज़र आता है।

बकौल रवीश कुमार कोरोना संकट का लाभ उठा कर ये अध्यादेश लाया गया। संसद का इंतजार नहीं किया गया। क्यों? अगर ये खेल समझना है तो नीति आयोग के अमिताभ कांत का 20 मई को टाइम्स ऑफ इंडिया में छपा लेख देखिए। आक्रामक तरीक़े से ऐसे सुधारों की वकालत करते हैं और 5 जून को सरकार अध्यादेश लाती है। मीडिया इस क़ानून के कवरेज को ग़ायब कर देता है।

यहां देखें पूरी पोस्ट

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केरल के पत्रकार की गिरफ्तारी पर SC में बोली यूपी सरकार- जांच में आईं चौंकाने वाली बातें, जहां का रिपोर्टर बताया वो अखबार बंद हो चुका
2 मुंबई में दिन दहाड़े युवक को घेर चाकूबाजी करने लगा बदमाश, तमाशबीन बनी पब्लिक; देखें वीडियो
3 पूर्व मंत्री ने दर्ज कराई खुद को किडनैप करने की FIR, कहा- किडनैपर को दी 48 लाख फिरौती
यह पढ़ा क्या?
X