ताज़ा खबर
 

एनडीएमसी चली निजीकरण की ओर…

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) ने महंगे बिजली वितरण स्टेशनों से महंगी बिजली खरीदने के बजाए पावर एक्सचेंज से सस्ती बिजली खरीदनी शुरू की है।

Author नई दिल्ली | January 14, 2017 1:47 AM

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) ने महंगे बिजली वितरण स्टेशनों से महंगी बिजली खरीदने के बजाए पावर एक्सचेंज से सस्ती बिजली खरीदनी शुरू की है। नई दिल्ली क्षेत्र को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए एनडीएमसी ने एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी भी बनाई है जिसका नाम नई दिल्ली नगरपालिका परिषद स्मार्ट सिटी लिमिटेड (एनडीएमसी एससीएल) है। स्मार्ट ऊर्जा के लिए एनडीएमसी 3.5 मेगावाट क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना करने जा रही है और अपने सभी अस्पतालों को ई-अस्पताल बना रही है। एनडीएमसी अध्यक्ष नरेश कुमार ने शुक्रवार को एनडीएमसी का सालाना बजट पेश करते हुए यह जानकारी दी। इस मौके पर एनडीएमसी के उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर और अन्य सदस्य भी मौजूद थे। नरेश कुमार ने बताया कि स्मार्ट सिटी के रूप में नई दिल्ली नगरपालिका परिषद की 2016-17 की आय 3404.51 करोड़ रुपए और व्यय 3296.25 करोड़ रुपए होगा।

परिषद ने इलेक्ट्रॉनिक व सूचना प्रौद्योगिकी विभाग व संचार व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क आॅफ इंडिया व एक स्वायत्त सोसाइटी के साथ इन्क्यूबेशन सेंटर शुरू करना प्रस्तावित किया है। परिषद 20 नई स्टार्ट-अप कंपनियों की इनक्यूबेटिंग के लिए अधिकतम 10,000 वर्ग फीट क्षेत्र निर्मित करेगा। उन्होंने बताया कि एनडीएमसी ई-गवर्नेंस, एम-गवर्नेंस और जन-साधारण की सहभागिता के माध्यम से सुशासन लाएगी। उन्होंने बताया कि परिषद के स्काडा पर सभी 33 व 66 केवी ग्रिड सब-स्टेशनों की डाटा कनेक्टिविटी व निर्माण भवन नियंत्रण कक्ष पर डीटीएल की स्काडा प्रणाली का एकीकरण पूरा हो गया है। वर्ष 2016-17 में 63 भवनों में 3.5 एमडब्लू रूपक टॉप सौर पैनलों को चालू किया गया है। आगे 74 भवनों में 0.9 एमडब्लू परियोजनाएं चल रही हैं जोकि साल 2016-17 में शुरू की जाएंगी।

एनडीएमसी अध्यक्ष ने बताया कि साल 2016-17 में जल एटीएम स्थापित करना प्रस्तावित किया गया है। तालकटोरा गार्डन में तृतीयक उपचार संयत्र का निर्माण और भारती नगर में 50 केएलडी एसटीपी का संस्थापन पूर्ण हो गया, इनसे प्राप्त उपचारित जल उद्यानों में प्रयोग किया जा रहा है। स्मार्ट सार्वजनिक शौचालय यूनिट के तहत परिषद 109 स्मार्ट सार्वजनिक हाइजीन सेंटर सहित 149 सार्वजनिक शौचालय यूनिटों का निर्माण कर रहा है।
दो पर्यटन स्थलों इंडिया गेट, राजपथ और इंडिया गेट सर्किल और जंतर-मंतर, संसद मार्ग, टॉलस्टाय मार्ग और परिषद क्षेत्र में सभी बड़े मेट्रों स्टेशनों के करीब सेफ्टी पिन बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि परिषद क्षेत्र में 21वीं सदी पर आधरित पार्किंग की आवश्यकता है, जिसके बाद पीपीपी मॉडल के तहत मोबाइल ऐप के जरिए आॅनलाइन बुकिंग व पार्किंग स्थलों की उपलब्ध्ता को बढ़ाने के साथ सेंसर आधरित केंद्रीकृत स्मार्ट पार्किंग सॉल्यूशन उपलब्ध कराने के लिए सुविधा भोगियों के चयन हेतु बोलियां प्राप्त की गर्इं।

उन्होंने बताया कि आयुष पॉलीक्लिनिक की भारी मांग को देखते हुए मंदिर मार्ग नई दिल्ली पर एक और आयुष पॉलीक्लिनिक खोलने का प्रस्ताव है। वर्ष 2017-18 में पालिका प्रसूति अस्पताल में होम्योपैथिक ओपीडी की स्थापना प्रस्तावित है। नरेश कुमार ने बताया कि छठी से बारहवीं तक की सभी 444 कक्षाओं को स्मार्ट कक्षाओं में परिवर्तित कर दिया गया है। ऐसी कक्षाओं में उच्चस्तरीय कंप्यूटर, इंटरएक्टिव व्हाइट बोर्ड, शॉर्ट थ्रो प्रोजेक्टर व अन्य हार्डवेयर भी लगाए जा रहे हैं। परिषद के ताज मानसिंह होटल की लीज के खत्म होने के मामले में नरेश कुमार ने कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है, अदालत जो भी फैसला सुनाएगी, परिषद उसका पालन करेगा। इनर सर्किल में वाहनों की आवाजाही पर रोक के बाबत उन्होंने कहा कि यह कदम न केवल आम नागरिकों बल्कि दुकानदारों की भी भलाई और व्यापार क ी बेहतरी के लिए हैै।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App