scorecardresearch

Navjot Singh Sidhu समय से पहले हो सकते हैं र‍िहा, फाइल पर जल्‍द मुहर लगने के आसार

Navjot Singh Sidhu Road Rage Case:1988 के एक रोड रेज मामले में इस साल मई में सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को एक साल की सजा सुनाई थी। सिद्धू ने 20 मई को अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था और तब से वह पटियाला केंद्रीय जेल में बंद हैं।

Navjot Singh Sidhu समय से पहले हो सकते हैं र‍िहा, फाइल पर जल्‍द मुहर लगने के आसार
पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Photo Credit – Facebook/sherryontopp)

पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress ) के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) वर्तमान में पटियाला सेंट्रल जेल (Patiala central Jail) में बंद है। उन्हें रोड रेज मामले (Road Rage Case) में एक साल की सजा हुई थी, जिसका छह महीना पूरा हो चुका है। जनवरी तक उनके रिहा होने की संभावना जताई जा रही है।

स्टेट जेल डिपार्टमेंट के कई सूत्र ने बताया है कि जेल अधिकारियों ने सिद्धू के व्यवहार के संबंध में  सकारात्मक रिपोर्ट फाइल की है। अटकलें हैं कि सिद्धू 26 जनवरी को सरकार की उस परंपरा के तहत जेल से बाहर आ सकते हैं, जब अच्छे व्यवहार का प्रदर्शन करने वाले कैदियों को छूट दी जाती है।

सिद्धू का आते ही शुरू होगा मिशन-2024

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के मीडिया सलाहकार सुरिंदर दल्ला ने कहा है कि “सिद्धू जी के जेल से लौटते ही मिशन 2024 शुरू हो जाएगा।”

29 नवंबर को दल्ला ने पंजाबी ने एक ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था, “पंजाब के अधिकारों की रक्षा के लिए लड़ाई जारी रहेगी। पंजाब अभी भी डिप्रेशन में है। इससे बाहर निकालने के लिए सिद्धू ने मॉडल दिया था। पंजाब के इंजन को बदलने की जरूरत है, मरम्मत की नहीं।

दल्ला शायद उस पंजाब मॉडल की बात कर रहे हैं, जिसे सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले राज्य की वित्तीय समस्याओं को दुरुस्त करने के संबंध में साझा किया था।

किस मामले में जेल गए हैं सिद्धू?

नवजोत सिंह सिद्धू 1988 के एक रोड रेज मामले में जेल गए हैं। मई 2022 में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें एक साल की सजा सुनाई थी। इसके बाद सिद्धू ने खुद ही 20 मई को अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। तब से वह पटियाला सेंट्रल जेल में बंद हैं।

जेल में अच्छा है सिद्धू का व्यवहार

सरकारी अधिकारी के मुताबिक, ”कोई ऐसी रिपोर्ट नहीं है, जिससे यह साबित हो कि जेल में सिद्धू का व्यवहार आपत्तिजनक है। वैसे भी वह अपना काफी समय ध्यान लगाने में बिताते हैं।”

अधिकारी ने आगे कहा है, ”पंजाब जेल नियमावली के अनुसार, हर कैदी जेल में बिताए हर महीने के लिए चार दिन की राहत पाने का हकदार होता है। अगले साल जनवरी तक, सिद्धू आठ महीने के लिए 32 दिनों की छूट जमा कर चुके होंगे।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 02-12-2022 at 12:03:19 pm
अपडेट