ताज़ा खबर
 

बेटी के पति से शारीरिक संबंध का शक, मां ने गला घोंटकर मार डाला!

"चार मार्च को सुबह साढ़े 10 बजे महिला ने बेटी का गला अपने दुपट्टे से घोंट दिया था। दोपहर एक बजकर 45 मिनट पर लड़की के पिता घर पहुंचे। वह खाना खाने आए थे। उन्होंने जब बेटी को बेडरूम में देखा तो उनकी पत्नी ने यह बहाना बनाया कि वह सो रही है। फिर शाम चार बजे आरोपी महिला ने बताया कि बेटी हिल-डुल नहीं रही है, न ही सांस ले रही है।"

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

महाराष्ट्र के नवी मुंबई इलाके में एक मां ने अपनी ही सगी नाबालिग बेटी को गला घोंटकर मार डाला। महज इस शक में कि बेटी के पति के साथ शारीरिक संबंध थे। खारगर पुलिस ने इस मामले में आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बुधवार को यह कार्रवाई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद की है, जिसमें स्पष्ट हुआ है कि लड़की की मौत गला घोंटे जाने के कारण हुई थी। यह वारदात चार मार्च की है। मृतका खारगर इलाके में सपरिवार रहती थी। उसके घर में 36 वर्षीय मां, सिविल कॉन्ट्रैक्टर पिता और 12 वर्षीय भाई हैं। दंपत्ति के दो अन्य बच्चे उनके गृह राज्य राजस्थान में रहते हैं, जिसमें 20 साल की एक बेटी और 14 साल का एक बेटा है।

पुलिस इंस्पेक्टर दिलीप काले ने हत्या के बारे में कहा, “चार मार्च को सुबह साढ़े 10 बजे महिला ने बेटी का गला अपने दुपट्टे से घोंट दिया था। दोपहर एक बजकर 45 मिनट पर लड़की के पिता (आरोपी महिला के पति) घर पहुंचे। उन्होंने जब बेटी को बेडरूम में देखा तो उनकी पत्नी ने यह बहाना बनाया कि वह सो रही है। फिर शाम चार बजे आरोपी महिला ने बताया कि बेटी हिल-डुल नहीं रही है, न ही सांस ले रही है। पति ने देखा तो बेटी को मृत पाया। शाम सात बजे के आसपास नाते-रिश्तेदारों को इस बात की खबर मिल चुकी थी। वे भी मौके पर मौजूद थे। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया। लड़की के गले पर निशान थे जिससे जाहिर था कि गला घोंटा गया है। ऐसे में, हमने दुर्घटना में मृत्यु का मामला दर्ज कर लिया और लाश को पोस्टमॉर्टम के लिए पनवेल ग्रामीण अस्पताल भेज दिया।”

पुलिस के अनुसार, “पीड़ित परिवार पोस्टमॉर्टम के बाद लड़की का शव राजस्थान ले गए, जहां उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। चूंकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत का कारण गला दबने से होना सामने आया, लिहाजा हमने इसे हत्या के मामले के रूप में दर्ज किया। फिलहाल, मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।” पुलिस ने इस संबंध में लड़की के सहपाठियों के बयान भी दर्ज किए हैं, जिसमें एक ने बताया कि मृतका की मां उसे बीते छह महीनों से पिता के साथ नाजायज संबंधों के शक को लेकर परेशान कर रही थी। यही नहीं, मां ने लड़की या फिर उसके पिता को मारने की धमकी तक दे डाली थी।

स्कूल के सहपाठियों ने यह भी खुलासा किया कि मृतका ने फरवरी में फिनायल पीकर खुदकुशी की कोशिश भी की थी। बाद में उसने स्कूल की इमारत से छलांग लगाने के बारे में भी सोचा था। पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत आरोपी महिला के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 27 मार्च तक उसे न्यायिक हिरासत में रखा जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App