ताज़ा खबर
 

आत्महत्या समझ पुलिस बंद कर रही थी केस, चार वर्षीय बेटी बोली- दो लोगों ने की पापा की हत्या

परिजन मौत को आत्महत्या समझकर शव को अंतिम संस्कार से बुलंदशहर ले गए थे लेकिन इस बीच शख्स ने 4 वर्षीय बेटी ने पूरा राज खोल दिया।

Author January 22, 2019 12:15 PM
प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

नोएडा पुलिस ने शनिवार को सेक्टर 93 में हुई मौत के बाद शव का अंतिम संस्कार रुकवा दिया है।  दरअसल परिजन मौत को आत्महत्या समझकर शव को अंतिम संस्कार से बुलंदशहर ले गए थे लेकिन इस बीच शख्स ने 4 वर्षीय बेटी ने पूरा राज खोल दिया। हालांकि जैसे ही नोएडा पुलिस को इस बात की भनक लगी तो पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार रुकवा दिया।

क्या है मामला: दरअसल नोएडो सेक्टर 93 में शनिवार रात को संतोष अपने घर पर फांसी के फंदे पर झूलता मिला। इस बात की जानकारी करीब 8.30 बजे मिली जब उनकी पत्नी ममता घर लौटीं। बता दें कि संतोष बतौर इलेक्ट्रिशियन काम करता था। उसके दो बच्चों थे जिसमें एक चार साल की बेटी और 2 साल का बेटा था। वहीं संतोष और ममता की शादी करीब 7 साल पहले हुई थी।

बेटी ने किया खुलासा: संतोष के परिजनों ने बताया कि रविवार सुबह जब वो अंतिम संस्कार के लिए बुलंदशहर जा रहे थे तब उनकी चार वर्षीय बेटी ने बताया कि शनिवार रात को दो लोग घर पर आए थे और उन्होंने पिता संतोष को शराब पिलाई और उसके बाद उन पर हमला कर दिया। इन दोनों शख्सों में एक मोटा था जबकि एक पतला दुबला। पतले शख्स ने एक डुपट्टे की मदद से पापा (संतोष) को छत से टांग दिया। ये देखकर लड़की डर गई और खुद को छुपा लिया और सो गई। जब उसकी नींद खुली तो वो बुलंदशहर के लिए रास्ते में थे। जब बच्ची ने अपने पिता के बारे में पूछा तो मां ने बताया कि वो अब नहीं रहे। तब बच्ची ने पूरी बात मां को बताई।

पुलिस को दी जानकारी: जैसे ही बेटी ने इस बात की जानकारी परिजनों को दी तभी परिजनों ने पुलिस को पूरे मामले के बारे में बताया। उस वक्त तक नोएडा पुलिस को भी पड़ोसियों से जानकारी मिल चुकी थी कि संतोष की मौत से पहले दो लोगों को उनके घर से जाते देखा गया था। जिसके बाद नोएडा पुलिस ने बुलंदशहर पुलिस को जानकारी दी और संतोष का अंतिम संस्कार रुकवाने की बात कही।

बुलंदशहर पहुंची नोएडा पुलिस: सीनियर एसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि मामले की छानबीन के लिए नोएडा पुलिस खुद बुलंदशहर पहुंची और शव को लेकर वापस आई। जिसके बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। वहीं पोस्टमाॉर्टम रिपोर्ट के बाद केस दर्ज किया जाएगा। वहीं पुलिस इस मामले में बच्ची के स्टेटमेंट का भी इस्तेमाल करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App