ताज़ा खबर
 

देश में पहली बार बनी सिर्फ महिलाओं की पार्टी, लोकसभा चुनाव भी लड़ने का इरादा

इस पार्टी से अभी तक एक लाख 40 हजार महिलाएं जुड़ चुकी हैं। स्वेता महिला अफसरों से भी पार्टी के साथ जुड़ने के लिए अपील कर रही हैं।

चुनाव आयोग। (फाइल फोटो)

देश के अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों में अक्सर महिला और पुरुष दोनों की भागीदारी होती है लेकिन अब देश में एक ऐसी पार्टी का गठन हुआ है जिसमें पुरुषों की एंट्री नहीं हो सकती है। जी हां ये पार्टी सिर्फ महिलाओं के लिए ही है। बता दें, इस पार्टी का गठन 36 साल की एक महिला डॉक्टर ने किया है जिनका नाम स्वेता शेट्टी है। इस पार्टी का नाम राष्ट्रीय महिला पार्टी है। बताया जा रहा है कि ये पार्टी 2019 का लोकसभा चुनाव भी लड़ेगी। इस पार्टी का मुख्य लक्ष्य संसद में महिलाओं को आरक्षण दिलाना और वर्क प्लेस पर उनके खिलाफ हो रहे अत्याचार को रेकने के लिए काम करना है।

2012 से ही एक्टिव है राष्ट्रीय महिला पार्टी-

इस पार्टी की अध्यक्ष स्वेता शेट्टी हैं। स्वेता का कहती हैं कि ‘पुरुष प्रधान समाज में एक महिला पार्टी का होना जरूरी है। हमारा लक्ष्य महिलाओं की बेहतरी के लिए काम करना है।’ स्वेता ने कहा, ‘इस पार्टी ने साल 2012 से ही महिलाओं के लिए काम करना शुरु कर दिया था, पार्टी ने इसे पंजीकरण करने के लिए चुनाव आयोग में आवेदन भी कर दिया है।’ बताया जा रहा है इस पार्टी से अभी तक एक लाख 40 हजार महिलाएं जुड़ चुकी हैं। स्वेता महिला अफसरों से भी पार्टी के साथ जुड़ने के लिए अपील कर रही हैं।

फिलहाल देश में कई राजनीतिक पार्टियां हैं। जिसमें महिला-पुरुष दोनों शामिल हैं। देश में कई ऐसी भी पार्टियां हैं जिसकी अध्यक्ष महिला हैं। जैसे बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती, तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी। पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती। बता दें, देश में लंबे समय तक सबसे पुरानी पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी भी रह चुकी हैं

Next Stories
1 जनसत्ता विशेष: खेती घटी, पौड़ी से पलायन
2 गुजरात सरकार ने भी चला बड़ा दांव, गांवों के लोगों को देगी 650 करोड़ रुपए की राहत
3 मध्य प्रदेश में किसानों की कर्जमाफी के पैसे कहां से आएंगे? पढ़ें ज्योतिरादित्य सिंधिया का जवाब
ये पढ़ा क्या?
X