ताज़ा खबर
 

31 को नोएडा में मेरठ एक्‍सप्रेस वे का शिलान्‍यास करेंगे पीएम मोदी, नहीं पहुंचेंगे सीएम अखिलेश

नरेंद्र मोदी 11.50 बजे नोएडा के सेक्‍टर 62 आएंगे। वह मेरठ एक्‍सप्रेस वे का शिलान्‍यास करेंगे और एक बजे दिल्‍ली रवाना हो जाएंगे।

Author नोएडा | December 31, 2015 9:31 AM
ओपिनियन पोल में PM मोदी को 54 फीसदी लोगों ने ‘बहुत अच्छा या अच्छा’ बताते हुए ऊंची रेटिंग दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय राजमार्ग 24 के चौड़ीकरण का उद्घाटन करने के लिए गुरुवार को नोएडा का दौरा करेंगे और वह एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। वे दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे की आधारशिला रखेंगे और फिर रैली स्थल पर जाएंगे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महेश शर्मा भी प्रधानमंत्री के साथ होंगे। मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव कार्यक्रम में शरीक नहीं होंगे।

मोदी 11.50 बजे सेक्‍टर 62 आएंगे। वह मेरठ एक्‍सप्रेस वे का शिलान्‍यास करेंगे। वह एक बजे दिल्‍ली रवाना हो जाएंगे। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कार्यक्रम के लिए एसपी स्‍तर के 8, 13 एएसपी, 42 डीएसपी के अलावा पीएसी और आरएएफ की नौ कंपनियां तैनात की हैं। राज्‍य सरकार ने गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिख कर एनएसजी की चार टीमें देने का भी आग्रह किया है।

बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार नोएडा में होंगे। लेकिन मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव उनका स्‍वागत करने के लिए नहीं होंगे। न ही वह शिलान्‍यास कार्यक्रम में शरीक होंगे। सरकार ने पंचायती राज मंत्री कैलाश यादव को कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री का प्रतिनिधि बन कर जाने के लिए कहा है।

अखिलेश के नहीं आने की वजह यह भ्रम माना जा रहा है कि जो भी सीएम नोएडा आता है, वह जल्‍द ही कुर्सी गंवा देता है। 1988 में नोएडा दौरे के कुछ ही दिन बाद वीर बहादुर सिंह अपना मुख्‍यमंत्री पद गंवा बैठे थे। अगले साल यानी 1989 में नारायण दत्‍त तिवारी के साथ ऐसा हुआ। 1995 में मुलायम सिंह, 1997 में मायावती, 1999 में कल्‍याण सिंह के साथ भी ऐसा ही हुआ। 2012 में मायावती के साथ एक बार फिर ऐसा ही हुआ। अक्‍टूबर 2011 में वह दलित प्रेरणा स्‍थल के उद्घाटन के लिए नोएडा गई थीं। 2012 में उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव हार कर सत्‍ता से बाहर हो गई। इसके बाद से राजनीतिक हलकों में यह मान लिया गया कि जो भी मुख्‍यमंत्री नोएडा जाता है, वह पद पर ज्‍यादा समय तक नहीं रहता। अगस्‍त 2012 में जब यमुना एक्‍सप्रेस वे का उद्घाटन हुआ, तब भी मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव नोएडा नहीं आए थे। 2013 में उन्‍होंने गौतम बुद्ध नगर में कई परियोजनाओं का उद्घाटन किय, लेकिन शहर में आए बिना।

सूत्रों ने बताया कि इस मौके पर विशेष अतिथियों में केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, संजीव बालियान, पी राधाकृष्णन, महेश गिरि, राजींदर अग्रवाल, सतपाल सिंह और विधायक विमला बाथम शामिल हैं। जिलाधीश एनपी सिंह, एसएसपी किरन एस और वरिष्ठ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों तथा भाजपा नेताओं ने रैली स्थल का मुआयना किया और लोगों को पार्किंग स्थल से वाकिफ करने के लिए निर्देश जारी किए। साथ ही प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान यातायात के मार्ग में परिवर्तन के भी निर्देश जारी किए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 31 दिसबंर को नोएडा में होने वाली रैली के दिन सेक्टर-62 की ज्यादातर सड़कें बंद रहेंगी। लोगों को अलग-अलग रास्ते से जाना पड़ेगा। एनएच-24 , मॉडल टाउन से सेक्टर 60, ममूरा से लेबर चौक मार्ग तो खुला रहेगा लेकिन इन सड़कों पर भारी ट्रैफिक दवाब रह सकता है। एनआइबी काट से लेबर चौक मार्ग खुलेगा लेकिन वीआइपी मूवमेंट होते ही इसे बंद कर दिया जाएगा जिससे अन्य मार्गों पर ट्रैफिक जाम की संभावना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App