ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी के चार साल पर फेसबुक पोस्‍ट को लेकर खूनी भिड़ंत, बजरंग दल कार्यकर्ता घायल

मध्‍य प्रदेश के कटनी में नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल पूरा करने के मौके पर कुछ लोगों ने फेसबुक पर पीएम मोदी के खिलाफ टिप्‍पणी कर दी थी। इसको लेकर दोनों पक्षों में हिंसक झड़प हो गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो।

फेसबुक पर भड़काऊ पोस्‍ट को लेकर झगड़े-फसाद की एक और घटना सामने आई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चार साल के कार्यकाल पर किए गए फेसबुक पोस्‍ट को लेकर दो गुटों में खूनी भिड़ंत हो गई, जिसमें बजरंग दल का एक कार्यकर्ता बुरी तरह घायल हो गया। यह घटना मध्‍य प्रदेश के कटनी की है। एक गुट ने पीएम मोदी के खिलाफ टिप्‍पणी कर दी थी। इसको लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि तीन युवकों ने बुधवार (30 मई) रात आठ बजे एक शख्‍स पर कैमोर के एक पेट्रोल पंप पर जानलेवा हमला कर दिया। इलाके में हमले की घटना की खबर जंगल की आग की तरह फैल गई। विवाद ने देखते ही देखते बबाल में बदल गया। स्‍थानीय पुलिस भी इससे निपटने में असमर्थ रही। बवाल को बढ़ता देख कटनी से अतिरिक्‍त पुलिस बल मौके पर भेजा गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस टीम पर एक पक्ष के लोगों ने अमरैया पार के समीप पथराव कर दिया था। पुलिस ने तत्‍काल उपद्रवियों को वहां से खदेड़ दिया। हमले की घटना के बाद से कैमोर में तनाव व्‍याप्‍त है। हालात को देखते हुए शहर में भारी तादाद में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। पुलिस हमला करने वाले आरोपियों की तलाश कर रही है। इस बीच, आरोपी युवकों के खिलाफ हत्‍या के प्रयास का मामला भी दर्ज कर लिया गया है।

क्‍या है मामला: ‘नई दुनिया’ समाचार पत्र के अनुसार, 30 मई को सद्दाम, राशिद और हैडन ने फेसबुक पर पीएम मोदी के खिलाफ टिप्‍पणी कर दी थी। उन्‍होंने सवाल उठाया था कि प्रधानमंत्री ने अपने चार साल के कार्यकाल में क्या किया? देखते ही देखते उनका यह बयान फेसबुक पर वायरल हो गया था। शाम को मोनू सेठी नामक एक युवक कैमोर पेट्रोल पंप पर खड़ा था। सद्दाम, राशिद और हैडन भी वहां पहुंच गए। मोनू और तीनों युवकों के बीच फेसबुक पर की गई टिप्‍पणी पर चर्चा शुरू हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि तीनों युवकों ने मोनू की लाठी-डंडों से बुरी तरह पिटाई कर डाली। बताया जाता है कि मोनू बजरंग दल का कार्यकर्ता भी है। इस हमले में वह बुरी तरह घायल हो गए। उनके सिर पर गंभीर चोटें आई हैं। घटना को अंजाम देने के बाद से ही तीनों आरोपी फरार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App