ताज़ा खबर
 

आडवाणी की तरह बेदाग साबित होंगे जेटली: नरेंद्र मोदी

डीडीसीए में कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी द्वारा वित्त मंत्री के इस्तीफे की मांग करने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने चहेते मंत्री का अनूठे अंदाज में बचाव किया..

नरेंद्र मोदी।

डीडीसीए में कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी द्वारा वित्त मंत्री के इस्तीफे की मांग करने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने चहेते मंत्री का अनूठे अंदाज में बचाव किया। एक तरफ तो कहा कि कांग्रेस फर्जी आरोप लगा रही है। दूसरी तरफ लालकृष्ण आडवाणी की मिसाल दे दी। मोदी बोले कि अरुण जेटली उसी तरह बेदाग साबित होंगे, जैसे लालकृष्ण आडवाणी हवाला मामले में हुए थे। गौरतलब है कि आडवाणी ने आरोप लगते ही संसद की सदस्यता से इस्तीफा दिया था और कहा था कि अदालत से बेदाग साबित होने के बाद ही वे संसद में आएंगे।

भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेटली का पुरजोर समर्थन करते हुए कांग्रेस पर करारा प्रहार किया और कहा कि सरकार को बदनाम करने के लिए वह फर्जी आरोप लगा रही है। संसदीय दल की बैठक में हालांकि भाजपा सांसद कीर्ति आजाद के जेटली पर लगाए गए आरोपों के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई। आजाद बैठक में उपस्थित नहीं थे। बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने मोदी के हवाले से कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि सुषमा स्वराज, शिवराज सिंह चौहान और वसुंधरा राजे जैसे भाजपा नेताओंं को ऐसे ही गलत आरोपों का सामना करना पड़ा था।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस संदर्भ में लालकृष्ण आडवाणी का उदाहरण दिया। जिन्हें हवाला मामले में फंसाने का प्रयास किया गया था पर वे बेदाग साबित हुए थे। नतीजतन कांग्रेस की रणनीति उल्टी पड़ गई थी। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार को बदनाम करने के लिए कांग्रेस मुद्दे गढ़ रही है और जेटली के खिलाफ लगाए गए आरोपों में भी वैसा ही होने जा रहा है जैसा आडवाणी पर लगाए गए हवाला के आरोपों का हुआ था।

उल्लेखनीय है कि पीवी नरसिंह राव के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के दौरान आडवाणी व अन्य नेताओं के मामले में सीबीआइ जांच हुई थी। आडवाणी ने हवाला का आरोप लगाए जाने पर 1996 में लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था। यह मामला हालांकि बाद में साक्ष्य के अभाव में ठहर नहीं पाया था। कांग्रेस और आप द्वारा डीडीसीए मामले में वित्त मंत्री को घेरने के प्रयासों और उनके इस्तीफे की मांग के बीच भाजपा पूरी तरह से जेटली के समर्थन में आगे आ गई है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को जेटली के समर्थन में बड़ा बयान दिया था।

सोमवार को जब जेटली दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप के नेताओं के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने अदालत गए थे तब उनके साथ कई केंद्रीय मंत्री भी थे। वेंकैया ने कहा कि विपक्ष से दो-दो हाथ करने के उद्देश्य से भाजपा सांसद अपने संसदीय क्षेत्र के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक-एक रात बिताएंगे और मोदी सरकार के अच्छे कार्यों के बारे में लोगों को अवगत कराएंगे। साथ ही बताएंगे कि विपक्ष का सरकार को बदनाम करने का प्रयास है। यह अभियान जनवरी से शुरू होगा।

वेंकैया के अनुसार मोदी ने सांसदों से कहा कि वे सरकार के कल्याण कार्यों और गरीबों, कमजोर वर्गो, युवाओं और महिलाओं की भलाई के लिए किए जा रहे कार्यों को जनता तक पहुंचाएं। प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्र्रेस पिछले लोकसभा चुनाव में अपनी करारी शिकस्त को पचा नहीं पाई है और सरकार को बदनाम करने का प्रयास कर रही है।
नायडू ने कहा कि लोकसभा में भाजपा के सांसद अपने संसदीय क्षेत्र के पड़ोस के इलाकों में फरवरी माह में ऐसा ही अभियान चलाएंगे। राज्यसभा सदस्य ऐसा अभियान उन क्षेत्रों में चलाएंगे जहां पार्टी पिछले आम चुनाव में पराजित हो गई थी। इस तरह से पूरे देश को इस कार्यक्रम के दायरे में लाया जाएगा।

संसद का शीतकालीन सत्र बुधवार को समाप्त हो रहा है, ऐसे में वेंकैया ने कांग्रेस से महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने में सहयोग मांगा जो राज्य सभा में फंसे हुए हैं। उच्च सदन में कांग्रेस के व्यवधान के कारण काम नहीं हो पा रहा है। सरकार ने राज्यसभा में किशोर न्याय कानून में संशोधन समेत महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने में कांग्रेस से सहयोग देने का अनुरोध किया।

राज्यसभा में छह महत्वपूर्ण बिल अटके हुए हैं। जिनमें जीएसटी, रियल इस्टेट, मध्यस्थता, चीनी उपकर, विमान अपहरण निरोधक विधेयक शामिल हैं। भाजपा सांसदों से 25 दिसंबर को अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन को सुशासन दिवस के रूप में मनाने को भी कहा गया है। इस दौरान पार्टी सांसदों से कल्याण कार्यों में हिस्सा लेने और वाजपेयी सरकार व वर्तमान राजग सरकार की उपलब्धियों के बारे में लोगों को बताने को कहा गया है।

Next Stories
Coronavirus LIVE:
X