ताज़ा खबर
 

नीलेश राणे का दावाः सोनू निगम की हत्या करवाना चाहते थे शिवसेना सुप्रीमो बालासाहेब ठाकरे

निलेश राणे ने कहा, 'बालासाहेब सोनू निगम को मारना चाहते थे। मुझे ठाकरे परिवार और सोनू निगम के रिश्ते बताने के लिए मजबूर मत कीजिए। मैं आनंद दिघे को मारने की साजिश के बारे में भी सार्वजनिक रूप से बताउंगा।'

Author January 15, 2019 4:01 PM
बाला साहेब ठाकरे और सोनू निगम (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के बेटे निलेश राणे ने दिवंगत शिवसेना सुप्रीमो बालासाहेब ठाकरे को लेकर चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि बालासाहेब ने बॉलीवुड गायक सोनू निगम को मारने की साजिश रची थी। इसके साथ ही राणे ने शिवसेना नेता आनंद दिघे की मौत के लिए भी बालासाहेब को ही जिम्मेदार ठहराया है।

विनायक राउत के बयान से तिलमिलाए राणेः लोकसत्ता के मुताबिक, ‘निलेश ने दावा किया है कि दिघे को इलाज के दौरान मार दिया गया था। दिघे की मौत पर दो शिवसैनिक काफी दुखी थे लेकिन तब ठाकरे ने कथित तौर पर उन्हें भी इसी तरह मार देने का आदेश दिया था।’ माना जा रहा है कि निलेश शिवसेना के विनायक राउत की तरफ से रत्नागिरि में दिए गए उस बयान का जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था, ‘नारायण राणे के राजनीतिक जीवन में नौ लोगों को किसने मारा था? अगर हिम्मत है तो उन्हें इसका जवाब देना चाहिए। शिवसेना के सदस्य बाल ठाकरे की दी गई सीख को ध्यान में रखकर जीते हैं और भगवा के प्रति वफादारी रखते हैं और किसी भी कीमत पर बालासाहेब की सीख के प्रति उनकी श्रद्धा को कम नहीं हो सकती।’

राणे बोले- मुझे मजबूर मत कीजिएः राणे ने कहा, ‘हमने कभी भी सियासत में बालासाहेब को लेकर कुछ नहीं कहा लेकिन जब कोई मेरे पिता पर गैरजिम्मेदार आरोप लगाएगा तो मैं उनको जवाब दूंगा। बालासाहेब सोनू निगम को मारना चाहते थे। मुझे ठाकरे परिवार और सोनू निगम के रिश्ते बताने के लिए मजबूर मत कीजिए। मैं आनंद दिघे को मारने की साजिश के बारे में भी सार्वजनिक रूप से बताउंगा। अगर मैंने मुंह खोला तो ठाकरे परिवार के लोगों के कपड़े उतर जाएंगे। लोग उन्हें स्मारक भी नहीं बनाने देंगे। हम अपनी सीमाएं जानते हैं। लेकिन विनायक राउत ने हद पार की है और इसीलिए मुझे बोलना पड़ा। बालासाहेब के लिए मेरे पिता का प्यार आज भी कम नहीं हुआ। उन्होंने कभी ये बातें नहीं कही।’

राउत और राणे का सियासी कनेक्शनः निलेश के पिता नारायण राणे कभी शिवसेना में ही थे लेकिन 2005 में उन्हें उद्धव ठाकरे ने पार्टी से निकाल दिया था। इसके बाद वे 2017 तक कांग्रेस में रहे लेकिन अब उन्होंने महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष के नाम से अपनी पार्टी बनाई है। निलेश राणे 15वीं लोकसभा में रत्नागिरि-सिंधुदुर्ग से सांसद चुने गए निलेश को 16वीं लोकसभा के चुनाव में शिवसेना के विनायक राउत ने हरा दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Kumbh Mela 2019: सनातन संस्था ने कहा – मोदी हिंदुत्व के सच्चे नेता तो गौ हत्या रोकें और राम मंदिर बनाएं
2 दिल्ली के सीएम केजरीवाल की बेटी का किडनैप करने की धमकी देने वाला हिरासत में, कर रहा था IAS की तैयारी
3 निरक्षर विधवा ने अपने हिस्से की सारी जमीन दान दी, तब खुला गांव में मिशन स्कूल