ताज़ा खबर
 

नायडू समेत भाजपा के चारों प्रत्याशियों ने राज्यसभा के परचे भरे

केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू के साथ ही भाजपा के सभी उम्मीदवारों ने सोमवार को यहां राज्यसभा के लिए अपने नामांकन पत्र दाखिल कर दिए।

भारतीय संसद

केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू के साथ ही भाजपा के सभी उम्मीदवारों ने सोमवार को यहां राज्यसभा के लिए अपने नामांकन पत्र दाखिल कर दिए। भाजपा के इन चारों उम्मीदवारों की जीत तय है। नायडू के साथ ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर और हर्षवर्धन सिंह व रामकुमार वर्मा ने भी नामांकन दाखिल किए। नायडू और माथुर के अलावा भाजपा ने अपने अन्य दो उम्मीदवार जातीय आधार पर तय किए हैं। राजपूत वर्ग से हर्षवर्धन सिंह और दलित तबके से रामकुमार वर्मा को उम्मीदवार बनाया गया है।

भाजपा के चारों उम्मीदवारों ने यहां विधानसभा में निर्वाचन अधिकारी पृथ्वीराज के सामने अपने परचे दाखिल किए। इनके साथ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी, मंत्रिमंडल के सभी सदस्य और विधायक मौजूद थे। उम्मीदवारों के परचों पर प्रस्तावकों और समर्थकों के नाम पहले से ही विधायक दल की बैठक में तय कर दिए गए थे। केंद्रीय मंत्री नायडू अपने तय समय से दो घंटे देरी से यहां पहुंचे। प्रदेश से उम्मीदवार तय करने में भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने सिर्फ एक ही बाहरी उम्मीदवार के तौर पर केंद्रीय मंत्री नायडू का नाम तय किया।

सके अलावा तीनों उम्मीदवार राजस्थान के ही हैं। राजस्थान की सभी सीटें भाजपा के खाते में जाने के आधार पर माना जा रहा था कि दो उम्मीदवार बाहरी हो सकते हैं। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर को प्रत्याशी बनाए जाने पर संघ से जुडा खेमा खुश है। माथुर प्रदेश की राजनीति में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विरोधी खेमे से हैं। उनकी मजबूत दावेदारी को केंद्रीय नेतृत्व ने मंजूर कर राज्यसभा में भेजने का फैसला किया। इससे पहले हुए राज्यसभा चुनाव में भी माथुर सबसे मजबूत दावेदार थे। पर मुख्यमंत्री के विरोध के चलते उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया गया।

प्रदेश भाजपा में एकजुटता दिखाने के मकसद से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपनी गाड़ी में माथुर को बैठा कर ही विधानसभा ले गई। माथुर ने भी परचा दाखिल करने के बाद कहा कि पार्टी पूरी तरह से एकजुट है। पार्टी नेतृत्व जो भी जिम्मेदारी सौंपेंगा उसे पूरी निष्ठा से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हितों को वो हमेशा पुरजोर ढंग से उठाते रहेंगे। माथुर का कहना है कि वो हमेशा कार्यकर्ता के तौर पर काम करते रहे हंै। उन्होंने राज्यसभा में मौका दिए जाने के लिए प्रधानमंत्री समेत सभी नेताओं का आभार जताया।

केंद्रीय मंत्री नायडू ने उम्मीदवार बनाए जाने पर केंद्रीय नेतृत्व के साथ ही प्रदेश नेतृत्व का आभार जताया। उन्होंने कहा कि राजस्थान से सांसद बनने पर अब वो प्रदेश पर ज्यादा ध्यान देंगे। केंद्र और राजस्थान में कांग्रेस ने बेपटरी की व्यवस्था दी थी भाजपा की सरकारें अब पटरी पर लाने का काम कर रही है।

Next Stories
1 मोदी के PM बनते ही PAK से भारत आ गया था परिवार, अब मुश्किल में है लड़की का सपना
2 BJP MLA का फिर विवादित बयान-JNU में हर रोज होते हैं रेप, पहले बता चुके हैं कंडोम की संख्‍या
3 केंद्रीय मंत्री की कार्यक्रम में लगा विवादित पोस्टर, ‘दिव्यांग’ की जगह लिखा ‘विकलांग’
ये  पढ़ा क्या?
X