ताज़ा खबर
 

नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव ने याद दिलाया बचपन

नब्बे के दशक में पैदा हुए लोग नागराज, सुपर कमांडो ध्रुव, भेड़िया, कोबी, डोगा, शक्ति, भोकाल, परमाणु से भली-भांति परिचित होंगे।

Author नई दिल्ली | January 9, 2018 6:11 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

सुशील राघव

नब्बे के दशक में पैदा हुए लोग नागराज, सुपर कमांडो धु्रव, भेड़िया, कोबी, डोगा, शक्ति, भोकाल, परमाणु से भली-भांति परिचित होंगे। ये सभी कॉमिक्स चरित्र हैं और उन दिनों सभी बच्चों के हीरो हुआ करते थे। वे बच्चे तो आज युवा हो गए हैं, लेकिन ये हीरो आज भी उनकी पसंद बने हुए हैं। तभी तो विश्व पुस्तक मेले में कॉमिक्स के स्टॉल पर युवाओं की भारी भीड़ नजर आई। सोमवार को राज पॉकेट बुक्स के स्टॉल पर कई युवा कॉमिक्स खरीदते दिखे।

दक्षिणी दिल्ली के महरौली से आए दिनेश ने बताया कि वे बचपन में बहुत कॉमिक्स पढ़ते थे, लेकिन अब ये आसानी से मिल नहीं पाती। उन्होंने बताया कि वे हर साल पुस्तक मेले से एक साथ कई कॉमिक्स खरीद लेते हैं और पूरे साल पढ़ते हैं। वहीं गाजियाबाद से आए एक अन्य युवक ने बताया कि आजकल हमारे जीवन में भागदौड़ के अलावा कुछ नहीं है। ऐसे में तनाव होना आम बात है और कॉमिक्स इसी तनाव को दूर करने का आसान तरीका है। उनके मुताबिक मुझे जब भी खाली समय मिलता है, मैं कॉमिक्स पढ़ लेता हूं। मालवीय नगर में रहने वाले मनीष ने बताया कि उन्हें कॉमिक्स बहुत अच्छी लगती है और नागराज उनका पसंदीदा चरित्र है। उनके दो बेटे हैं और वे उनके लिए भी कॉमिक्स खरीदते हैं। मनीष ने बताया कि आजकल के बच्चों में पढ़ने की आदत कम हो रही है। कॉमिक्स के माध्यम से ही सही बच्चों में पढ़ने की आदत विकसित हो जाती है।
सौ के तीन उपन्यास
अंग्रेजी के उपन्यास पढ़ने के शौकीन लोगों को एक बार पुस्तक मेले में जरूर जाना चाहिए। यहां के कई स्टॉल्स पर सौ रुपए के तीन उपन्यास मिल रहे हैं। पाठक इस मौके का जमकर फायदा भी उठा रहे हैं। हैंगर 7-एफ में मौजूद बुक अफेयर और हॉल नंबर-11 में भी कई जगह पर 100 रुपए में तीन उपन्यास उपलब्ध हैं।
बच्चों ने दिखाया हुनर
हॉल नंबर-7 के पास मौजूद बाल मंडप में बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिल रहा है। यहां पर सुबह से शाम तक बच्चों के लिए और बच्चों के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। सोमवार को यहां पर कठपुतली का खेल दिखाया गया और कुछ बच्चों ने कहानियां भी सुनार्इं।
स्वच्छ भारत पर आधारित स्वच्छता का दर्शन
प्रभात प्रकाशन इस बार कई नई पुस्तकें लेकर आया है। इनमें से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन स्वच्छ भारत को साकार करती डॉ बिंदेश्वर पाठक की पुस्तक ‘स्वच्छता का दर्शन’, अजय कुमार की ‘डिजिटल इंडिया’, अनंत विजय और शिवानंद द्विवेदी द्वारा संपादित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पुस्तक ‘परिवर्तन की ओर’ पुस्तक मेले के खास आकर्षण हैं। जाने-माने लेखक अरुण आनंद की पुस्तक ‘जानिए संघ को’ में संघ के कार्यों की जानकारी दी गई है। नाना जी देशमुख और दीनदयाल उपाध्याय की चित्रावली भी लोगों को खासी पसंद आ रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App