ताज़ा खबर
 

नागालैंडः उग्रवादियों ने घात लगाकर किया हमला, 4 जवान शहीद; 6 घायल

शहीद हुए जवानों में से एक फतेह सिंह (48) भी थे। वह मूलरूप से उत्तराखंड में रुद्रप्रयाग के अगस्त्यमुनि ब्लॉक के बाड़व गांव के रहने वाले थे। हालांकि, विद्रोहियों के हमले के बाद सुरक्षाबलों ने भी ईंट का जवाब पत्थर से दिया।

असम राइफल्स के वाहन को इसी जगह के आसपास निशाना बनाया गया था। (फोटोः ANI)

उत्तर पूर्वी राज्य नागालैंड में रविवार (17 जून) को नगा उग्रवादियों ने घात लगाकर सुरक्षाबलों के वाहन पर हमला कर दिया। हमले के दौरान असम राइफल्स के चार जवान शहीद हो गए, जबकि छह गंभीर रूप से घायल हुए। असम राइफल्स के जवान पानी लेने के लिए नदी के करीब जा रहे थे, उसी दौरान उग्रवादियों ने उनकी तरफ गोलियों और ग्रेनेड की बौछार शुरू कर दी थी।

यह मामला मोन जिले के अबोई नगर का है, जो कि जिला मुख्यालय से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, हमले को नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन-के) के विद्रोहियों ने अंजाम दिया।

असम राइफल्स के महानिरीक्षक के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि हलवदार फतेह सिंह नेगी और सिपाही एच कोनयाक समेत चार जवान इस हमले में शहीद हुए हैं, जबकि छह अन्य जवान जख्मी हुए हैं। अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया है, जहां उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है। घटनास्थल से जख्मी हुए जवानों को सेना के हेलीकॉप्टर की मदद से इलाज के लिए असम के जोरहाट ले जाया गया।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • JIVI Revolution TnT3 8 GB (Gold and Black)
    ₹ 2878 MRP ₹ 5499 -48%
    ₹518 Cashback

48 वर्षीय फतेह सिंह मूलरूप से उत्तराखंड में रुद्रप्रयाग के अगस्त्यमुनि ब्लॉक के बाड़व गांव के रहने वाले थे। हालांकि, विद्रोहियों के हमले के बाद सुरक्षाबलों ने भी ईंट का जवाब पत्थर से दिया। मगर अभी तक विद्रोहियों के ढेर होने को लेकर कोई जानकारी नहीं है।

नगा विद्रोहियों ने सुरक्षाबलों पर यह हमला तब किया, जब केंद्र सरकार उनसे कई मसलों को लेकर हल खोजने के लिए आखिरी चरण में वार्ता कर रही है। यह इस तरह का पहला हमला नहीं, जिसमें सुरक्षाबल के जवान गई हो। विद्रोहियों के हमलों में बीते तीन सालों में आठ असम राइफल्स के जवान शहीद हो चुके हैं, जबकि आधा दर्जन से अधिक जख्मी हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App