ताज़ा खबर
 

Muzaffarpur Shelter Home Case में सुप्रीम कोर्ट का आदेश- परिजनों को सौंपी जाएं 8 पीड़िता, आर्थिक व मेडिकल मदद भी दें

Muzaffarpur Shelter Home Case: सीलबंद लिफाफे में पेश की गयी इस रिपोर्ट में कहा गया था कि आठ लड़कियों को उनके परिवारों को सौंपा जा सकता है। ये लड़कियां पूरी तरह फिट हैं।

Author मुजफ्परपुर | Published on: September 12, 2019 1:53 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उच्चतम न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट) ने गुरुवार को बिहार के मुजफ्फरपुर आश्रय गृह की 44 लड़कियों में से आठ लड़कियों को सभी आवश्यक औपचारिकतायें पूरी करने के बाद उनके परिवारों को सौंपने की अनुमति दे दी। न्यायमूर्ति एन वी रमण, न्यायमूर्ति एम एम शांतानागौडार और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की पीठ ने बिहार सरकार को निर्देश दिया कि इन आठ लड़कियां को सभी आवश्यक वित्तीय और मेडिकल सहायता उपलब्ध करायी जाये।

कोर्ट का आदेश: पीठ ने राज्य सरकार को यह निर्देश भी दिया कि इस तरह की पीड़ितों को योजना के तहत की जाने वाली क्षतिपूर्ति का आकलन करे और न्यायालय को अपनी रिपोर्ट दे। पीठ ने टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंसेज (टिस)को शेष लड़कियों के मामले में एक स्थिति रिपोर्ट तैयार करके आठ सप्ताह के भीतर न्यायालय में पेश करने का निर्देश दिया है। शीर्ष अदालत ने टिस की कार्य परियोजना ‘कोशिश’ की रिपोर्ट के अवलोकन के बाद यह आदेश दिया। सीलबंद लिफाफे में पेश की गयी इस रिपोर्ट में कहा गया था कि आठ लड़कियों को उनके परिवारों को सौंपा जा सकता है। ये लड़कियां पूरी तरह फिट हैं।
National Hindi News, 12 September 2019 Top Updates LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्या था मामला: मुजफ्फरपुर में गैर सरकारी संगठन द्वारा संचालित इस आश्रय गृह में अनेक लड़कियों का कथित रूप से यौन शोषण हुआ था और टिस की एक रिपोर्ट के बाद इस आश्रय गृह में रहने वाली लड़कियों के यौन शोषण की गतिविधयां सामने आयी थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 फ्लाइट छूटी तो महिला कर्मचारी को गालियां देने लगे कांग्रेस विधायक, एयर इंडिया ने कहा- जांच के बाद करेंगे कार्यवाही
2 बिहार में NDA के कप्तान हैं नीतीश कुमार और 2020 तक बने रहेंगेः संजय पासवान
3 अच्छी बारिश के लिए धूमधाम से रचाई थी मेंढकों की शादी, अब मौसम से बेहाल हुए तो मंत्रोच्चार के साथ कराया तलाक