ताज़ा खबर
 

यूपी: मुजफ्फरनगर में महिला ने की आत्महत्या, उत्पीड़न की शिकायत के बाद भी आरोपियों को नहीं पकड़ा

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर लापरवाही बरतने पर उत्तर प्रदेश पुलिस लगातार घिर रही है। अब मुजफ्फरनगर में दुष्कर्म की कोशिश के आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करने की जगह उल्टे महिला के बेटे और पति को ही हवालात में बंद कर दिया।

Author नई दिल्ली | April 15, 2018 12:19 PM
मुजफ्फरपुर के रायपुर अटेरना गांव में आरोपियों पर कार्रवाई न होने पर महिला ने की आत्महत्या(फोटो-एएनआई)

आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर लापरवाही बरतने पर उत्तर प्रदेश पुलिस लगातार घिर रही है। अब मुजफ्फरनगर में दुष्कर्म की कोशिश के आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करने की जगह उल्टे महिला के बेटे और पति को ही हवालात में बंद कर दिया। महिला उन्हें छोड़ने की गुहार लगाती रही मगर पुलिस नहीं मानी। जिसके बाद महिला ने आत्महत्या कर ली तो हड़कंप मच गया। तब जाकर पुलिस ने बेटे और पति को पकड़ा। आरोप है कि घूस न मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई करने की जगह उल्टे पीड़ित पक्ष को ही प्रताड़ित किया।

रायपुर अटेरना गांव निवासी 40 वर्षीय महिला ने जेठ के बेटे और उसके साथी पर बलात्कार की कोशिश का आरोप लगाया था। पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। जबकि शिकायत लेकर पहुंचे बेटे और पति को ही थाने की हवालात में बंद कर दिया। महिला उन्हें छुड़ाने के लिए बार-बार गुहार लगाती रही। मगर पुलिस ने गुहार अनसुनी कर दी। जिस पर महिला ने शुक्रवार की सुबह(13 अप्रैल) घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।

एसएसपी अनंतदेव तिवारी ने घटना में कार्रवाई न करने और घूसखोरी के आरोप में दारोगा सतेंद्र को निलंबित कर दिया। महिला के भाई की तहरीर पर घटना के संबंध में जहां थाना फुगाना पर महिला के साथ दुष्कर्म की कोशिश का वहीं थाना बुढ़ाना पर एक महिला सहित छह के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। महिला का परिवार एक भट्टे पर परिवार के साथ मजदूरी करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App