Muzaffarnagar communal flare up tensions rise after idols found vandalised in Muzaffarnagar temple - मुजफ्फरनगर: मंदिर में घुस युवक ने तोड़ दी शिव-पार्वती की मूर्ति, पूरे इलाके में तनाव - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मुजफ्फरनगर: मंदिर में घुस युवक ने तोड़ दी शिव-पार्वती की मूर्ति, पूरे इलाके में तनाव

पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक बार फिर से सांप्रदायिक तनाव फैल गया है। नशे में धुत एक व्‍यक्ति ने भगवान शिव और माता पार्वती की प्रतिमा को खंडित कर दिया। इसके बाद वहां बड़ी तादाद में लोग इकट्ठा होकर आरोपी के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग करने लगे थे। हालात को देखते हुए पूरे क्षेत्र की सुरक्षा-व्‍यवस्‍था सख्‍त कर दी गई है।

सांप्रदायिक तनाव भड़का। (Representative Image)

सांप्रदायिक तौर पर संवेदनशील पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला मामला सामने आया है। नशे में धुत एक व्‍यक्ति ने एक मंदिर में घुसकर भगवान शिव और पार्वती की प्रतिमा को तोड़ दी। इस घटना की खबर फैलते ही पूरे इलाके में तनाव फैल गया है। समाचार एजेंसी ‘पीटीआई’ के अनुसार, यह घटना जिले के खतोली शहर की है। सर्किल ऑफिसर राजीव कुमार सिंह ने बताया कि घटना के बारे में मंगलवार (15 मई) शाम को पता चला था। भगवान शिव का मंदिर शहर के देवीदास इलाके में स्थित है। स्‍थानीय लोग जब शाम को मंदिर गए तो उन्‍हें मूर्तियों के खंडित होने का पता चला था। घटना की जानकारी मिलने के बाद वहां बड़ी संख्‍या में लोग जुटने लगे थे। घटना से आक्रोशित लोगों ने आरोपी के खिलाफ त्‍वरित कार्रवाई की मांग करने लगे थे। विवाद बढ़ता देख स्‍थानीय पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी, जिसके बाद घटना को अंजाम देने वाले का पता चला था। हालात को देखते हुए खतोली और आसपास के क्षेत्रों की सुरक्षा बेहद सख्‍त कर दी गई है। किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस के अतिरिक्‍त जवानों को तैनात क‍र दिया गया है।

मुजफ्फरनगर में सांप्रदायिक तनाव की घटना नई बात नहीं है। इस साल फरवरी में भी जिले में तनाव फैल गया था। दरअसल, एक लड़का एक लड़की से मिलने गया था। कुछ लोगों ने उसके साथ मारपीट की थी और उसकी बाइक भी जला दी थी। लड़के का ताल्‍लुक अल्‍पसंख्‍यक समुदाय से था। इससे तनाव की आशंका गहरा गई थी। पुलिस ने त्‍वरित कार्रवाई करते हुए सुरक्षा-व्‍यवस्‍था चुस्‍त कर दी थी। घटनास्‍थल पर बड़ी संख्‍या में लोग जुट गए थे। इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ था। इसमें पीड़ित युवक को पुलिस की गाड़ी में बैठकर जाते हुए देखा गया था। पिछले साल पाइप लाइन विवाद को लेकर दो समुदाय आमने-सामने आ गए थे। दोनों गुटों में खूनी संघर्ष हुआ था। इस घटना में एक युवक की मौत हो गई थी, जबकि महिला समेत तीन लोग घायल हो गए थे। एसएसपी ने मौके पर पहुंचकर ग्राम प्रधान समेत कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App