ताज़ा खबर
 

मंदिर में अनूठी मिसाल, मुसलमान हनुमान जी के लिए गाएंगे कव्वाली

गुजरात के वडोदरा में एक मंदिर ट्रस्ट द्वारा अनूठी मिसाल पेश की जा रही है। यहां मुसलमान कव्वाल हनुमान जी के लिए कव्वाली गाएंगे।

मुसलमानों हनुमान जी के लिए कव्वाली गाएंगे। (एक्सप्रेस अर्काइव फोटो)

गुजरात के बडोदरा में सांप्रदायिक सौहार्द का एक नया उदाहरण सामने आया है। यहां एक मंदिर प्रबंधन ने अनूठी मिसाल पेश की है। मंदिर प्रांगण में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जहां मुसलमान हनुमान जी के लिए कव्वाली गाएंगे। टाईम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, वडोदरा के तर्सली स्थित एक हनुमान मंदिर में प्रत्येक वर्ष श्रावण के पवित्र महीने में भक्तों द्वारा गाए जाने वाले हनुमान चालिसा व मंत्र गूंजते रहे हैं। लेकिन इस शनिवार एक अलग कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। ‘पवन पुत्र’ के लिए मंदिर में मुसलमानों द्वारा कव्वाली गाई जाएगी।

मंदिर ट्रस्ट श्री मारूति मंडल ने कव्वाली गाने के लिए मुसलमान कव्वालों को आमंत्रित किया है। श्री मारूति मंडल के अध्यक्ष राकेश पटेल, जिन्होंने यह कदम उठाया है, कहते हैं,” मैं समाज में सांप्रदायिक सौहार्द का संदेश देना चाहता हूं। यदि हम अपने चारो ओर देखते हैं तो पाते हैं कि सभी लोग एक दूसरे से जाति और धर्म के नाम पर लड़ रहे हैं। हम अलग-अलग भगवान को लेकर लड़ते हैं, लेकिन भगवान ने हम भक्तों को कब अलग-अलग किया है?” राकेश पटेल को लोग तर्सली में भाग्याभाई के नाम से भी जानते हैं।

राकेश से जब पूछा गया कि क्या मंदिर में मुसलमानों द्वारा कव्वाली गाने को लेकर किसी ने विरोध किया? इस सवाल पर उन्होंने कहा, “मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों ने मेरे फैसले का समर्थन किया। लगभग दो घंटों तक कव्वाली गाई जाएगी। झील के किनारे स्थित इस मंदिर के लगभग 3,000 सदस्य हैं, जिनमें से 500 मुसलमान हैं। हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग शनिवार को मंदिर में प्रार्थना करते हैं और श्रद्धापूर्वक दान करते हैं। यहां मुसलमान हनुमान चालिसा जप भी करते हैं। हिंदू भक्तों की उपस्थिति में  इस शनिवार को मुस्लिम कव्वाल को आमंत्रित करने का फैसला किया गया। हम सब एक साथ प्रार्थना करेंगे। कव्वालों का यह समूह पद्रा और जम्बूसर से है, जो कव्वाली के रूप में भक्ति गीत गाएंगे। जब वे ‘ख्वाजा’ के लिए गा सकते हैं, तो मैं निश्चिंत हूं कि उनकी प्रार्थना उस भगवान तक जरूर पहुंचेगी, जो एक हैं। इस कार्यक्रम में हजारों की संख्या में श्रद्धालु भाग लेंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App