ताज़ा खबर
 

मुस्‍लिम सपा नेता ने कहा- बीवी को गैर-मर्द के साथ देखोगे तो मार दोगे या तीन तलाक ही दोगे

समाजवादी पार्टी के अल्पसंख्यक पैनल के प्रमुख रियाज ने बरेली में एक कार्यक्रम में बोलते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा, 'शरियत कहता है कि तलाक को तीन स्तरों में दिया जाना चाहिए। तीन तलाक को एक विकल्प के तौर पर रखा गया है।

सपा नेता रियाज अहमद (फोटो सोर्स- एएनआई ट्विटर)

समाजवादी पार्टी के नेता रिजाय अहमद ने तीन तलाक का पक्ष लेते हुए काफी चौंकाने वाली बात कही है। उन्होंने कहा है कि अगर किसी व्यक्ति को उसकी पत्नी धोखा दे रही है तो ऐसी स्थिति में उसे क्या करना चाहिए। रियाज ने कहा कि अगर किसी महिला का गैर-मर्द के साथ अवैध संबंध है तो उसके पति के पास ऐसी स्थिति में केवल दो विकल्प रह जाते हैं, या तो पत्नी को जान से मार दो या फिर उससे छुटकारा पाने के लिए तीन तलाक दे दो। रियाज ने कहा कि तीन तलाक इसलिए दिया जाता है ताकि महिला को मारा न जाए।

समाजवादी पार्टी के अल्पसंख्यक पैनल के प्रमुख रियाज ने बरेली में एक कार्यक्रम में बोलते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘शरियत कहता है कि तलाक को तीन स्तरों में दिया जाना चाहिए। तीन तलाक को एक विकल्प के तौर पर रखा गया है। उदाहरण के लिए, अगर आपको पता चलता है कि आपकी पत्नी का गैर-मर्द के साथ अवैध संबंध है, तो आप क्या करोगे? आप या तो उसे जान से मार दोगे या फिर उससे छुटकारा पाने के लिए उसे तीन तलाक दे दोगे।’

रिजाय ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधते हुए मुस्लिम महिलाओं के लिए 8 फीसदी आरक्षण की मांग की। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी सही में मुस्लिम महिलाओं के हित के बारे में सोचती है तो उन्हें महिला आरक्षण बिल के तहत अलग कोटा दिया जाना चाहिए, जहां उन्हें 8 फीसदी आरक्षण मिलना चाहिए। सपा नेता ने दावा किया कि भले ही तीन तलाक के बारे में इतनी ज्यादा बातें की जा रही है, लेकिन फैक्ट यह है कि हिंदू लोग मुस्लिमों की तुलना में तलाक के लिए ज्यादा आवेदन करते हैं। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि रियाज अहमद अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहे हों, इससे पहले भी उन्होंने कई विवादित बयान दिए हैं। रियाज ने 2014 में बीजेपी नेता वरुण गांधी और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को लेकर भी आपत्तिजनक बयान दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App