ताज़ा खबर
 

मुस्लिम युवक ने किया शिव मंदिर में जलाभिषेक, नमाज पढ़ने गया तो पिटाई, कहा- मंदिर में ही घंटा बजाओ

बाबू खान पुत्र अल्लाह मेहर का कहना है कि गत तीन वर्षों से उसे भगवान शिव की याद आती थी और वह भगवान शिव की पूजा भी करता था। इसके साथ-साथ अपने धार्मिक कार्यों को भी करता था और मस्जिद में नमाज भी अदा करता था।

अलीगढ़ के बाबू खान ने कराया शिव मंदिर का निर्माण (image source-Youtube/ANI)

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत इलाके में एक मुस्लिम युवक को शिवभक्ति भारी पड़ रही है। दरअसल बागपत के रंछाड़ गांव निवासी बाबू खान ने इस बार हरिद्वार से कांवड़ लाकर पुरा महादेव और अपने गांव के शिव मंदिर में जलाभिषेक किया है। लेकिन जब शुक्रवार को वह जुमे की नमाज अदा करने गांव में स्थित मस्जिद गया तो कुछ युवकों ने उसे नमाज नहीं पढ़ने दी और मारपीट कर मस्जिद से बाहर निकाल दिया। साथ ही युवकों ने उससे कहा कि अब मंदिर में ही घंटे बजा। फिलहाल पीड़ित बाबू खान ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की है और 4 लोगों के खिलाफ तहरीर दी है।

बाबू खान पुत्र अल्लाह मेहर का कहना है कि गत तीन वर्षों से उसे भगवान शिव की याद आती थी और वह भगवान शिव की पूजा भी करता था। इसके साथ-साथ अपने धार्मिक कार्यों को भी करता था और मस्जिद में नमाज भी अदा करता था। इस बार बाबू खान ने हरिद्वार से कांवड़ लाने का फैसला किया और गंगाजल लाकर मेरठ के प्रसिद्ध पुरा महादेव मंदिर और गांव के मंदिर में जलाभिषेक किया। लेकिन यह बात गांव के कुछ लोगों को पसंद नहीं आयी। शुक्रवार को जब बाबू खान नमाज पढ़ने के लिए गांव की मस्जिद गया तो वहां मौजूद 4 लोगों ने उसके साथ मारपीट की और वहां से भगा दिया। बाबू खान का कहना है कि यदि इसी तरह उसे प्रताड़ित किया गया तो वह धर्म परिवर्तन करने के मजूबर हो जाएगा।

बाबू खान ने मामले की शिकायत बिनौली थाने में की है। बता दें कि ऐसा ही एक मामला अलीगढ़ के अनूपशहर रोड स्थित मिर्जापुर गांव का है। यहां रहने वाले एक शख्स का नाम भी बाबू खान है और ये भी शिव भक्त हैं। फिलहाल पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच शुरु कर दी है। बाबू खान ने तो बाकायदा एक छोटे से मंदिर का निर्माण भी कराया। बाबू खान का कहना है कि इस मंदिर का निर्माण कराकर उन्हें काफी शांति मिलती है। वहीं बाबू खान द्वारा मंदिर का निर्माण कराने पर इलाके के लोग भी बाबू खान की सद्भावना की दाद देते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App