ताज़ा खबर
 

कृष्ण के रूप में गीता पढ़ने वाली आलिया पर भड़के मुफ्ती ने बताया ‘इस्लाम विरोधी’, बच्ची बोली- मैं पहले हिंदुस्तानी

सोमवार (30 दिसंबर) को आलिया को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में सम्मानित किया था।
आलिया। (Photo Courtesy: NDTV)

प्रदेश स्तयीय प्रतियोगिता में श्रीमद्भगवद्गीता के संस्कृत श्लोक गायन में दूसरा स्थान हासिल करने वाली आलिया खान को लेकर बवाल खड़ा हो गया है। उत्तर प्रदेश के मेरठ में आयोजित हुई इस प्रतियोगिता में आलिया ने भगवान श्रीकृष्ण का रूप धारण करके गीता के संस्कृत श्लोक गायन किया था। दारुल उलूम के ऑनलाइन फतवा विभाग के चेयरमैन मुफ्ती अरशद फारुकी ने एेसा करने को इस्लाम विरोधी बताया है। उन्होंने कहा कि किसी भी स्कूल की मुस्लिम बच्ची या बच्चे द्वारा एेसा रूप रखना इस्लाम के खिलाफ है। इसकी इजाजत नहीं दी जा सकती। एेसी बातें या ड्रामों में मुस्लिम बच्चों को शामिल न करें जो उनके मजहब के खिलाफ हों।

मुफ्ती के इस बयान पर आलिया ने कहा कि वह पहले हिंदुस्तानी है और उनसे गीता पाठ करके अपना धर्म नहीं त्यागा है। आलिया ने कहा कि जो लोग इसे मुद्दा बनाकर राजनीति करना चाहते हैं, वह मुस्लिम समाज के लिए अलग से स्कूल खुलवाएं। उन्होंने कहा कि मुझ पर राय देने से पहले शाहरुख खान, सलमान खान, अली जफर, गीता गर्ल मरियम पर भी अपनी राय दें। उन्होंने कहा कि गीता धार्मिक किताब नहीं है। वह कर्म का ज्ञान देती है, जैसे हमारे यहां नेकी कर दरिया में डाल। यही गीता हमें सिखाती है। उन्होंने कहा कि मैंने ज्ञान के लिए गीता का पाठ किया है और यह हम किसी भी धर्म से ले सकते हैं। आलिया ने कहा कि ग्रंथ हमें इंसानियत सिखाते हैं और मैंने वही किया है। रूप धारण कर लेने से मेरा धर्म नहीं बदलेगा।

उन्होंने कहा, मुझे किसी तरह की राजनीति में न घसीटें। मुझे पढ़ने दें। गौरतलब है कि सोमवार (30 दिसंबर) को आलिया को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में सम्मानित किया था। उन्होंने 25 हजार रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया था। यह भी उन्होंने कृष्ण के स्वरूप में ही लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.