ताज़ा खबर
 

UP: मुस्लिम दोस्त ने FB पर ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ का जवाब नहीं दिया तो दोनों समुदाय के लोग भिड़े, 5 गिरफ्तार

फेसबुक मैसेंजर पर मोहम्मद हनीफ से चैटिंग के दौरान रवि ने बालाकोट एयर स्ट्राइक को लेकर कुछ कमेंट किए थे। रवि के कमेंट्स पर हनीफ ने कोई टिप्पणी नहीं की, जिससे वह चिढ़ गया। इसके बाद मामला गरमाता चला गया।

प्रतीकात्मक तस्वीर (एक्सप्रेस फाइल)

सहारनपुर के दादुरी गांव में 2 समुदायों के बीच विवाद के बाद पुलिस ने रविवार (24 मार्च) को 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के बाद हुई बहस को लेकर विवाद हुआ था। बवाल में दोनों समुदाय के 6-6 लोग घायल हुए थे। इनमें 2 महिलाएं भी शामिल थीं।

जानकारी के मुताबिक, दादुरी गांव में रवि गिरि (25) नामक युवक रहता है, जिसका पड़ोसी मोहम्मद हनीफ (24) है। दोनों किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। इनमें से रवि चंडीगढ़ के एक अस्पताल में नौकरी करता है। उसने डेंटल सर्जरी में स्नातक कर रखा है। वहीं, हनीफ बरेली में एमएससी कर रहा है। होली की छुट्टी के चलते दोनों गांव आए थे।

बांदा थाना प्रभारी हरपाल सिंह ने बताया कि फेसबुक मैसेंजर पर मोहम्मद हनीफ से चैटिंग के दौरान रवि ने बालाकोट एयर स्ट्राइक को लेकर कुछ कमेंट किए थे। रवि के कमेंट्स पर हनीफ ने कोई टिप्पणी नहीं की, जिससे वह चिढ़ गया। इसके बाद मामला गरमाता चला गया। स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप के बाद शनिवार सुबह (23 मार्च) हनीफ के घर पर दोनों परिवारों की मीटिंग बुलाई गई।

रवि के परिजन बातचीत करने के लिए हनीफ के घर गए थे। इसके कुछ देर बाद रवि कई लोगों के साथ हनीफ के घर पहुंचा। बातचीत के दौरान दोनों पक्षों में बहस होने लगी और वे गाली-गलौज करने लगे। मामला उस वक्त बिगड़ गया, जब दोनों पक्ष लाठी-डंडों से एक-दूसरे को पीटने लगे। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और स्थिति पर काबू पाया।

बांदा पुलिस थाने में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। वहीं, रविवार को पुलिस ने रवि व हनीफ समेत 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें शाहजहांपुर स्थित जिला अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें जमानत मिल गई। गिरफ्तार होने वाले बाकी तीन लोगों में हनीफ के चचेरे भाई चांद मोहम्मद व शान मोहम्मद और रवि का छोटा भाई हर्षित था। फिलहाल हालात पर नियंत्रण रखने के लिए गांव में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

रवि ने बताया, ‘‘मैं बचपन से हनीफ को जानता हूं। हम अक्सर फेसबुक मैसेंजर पर बातचीत करते हैं। भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के एक दिन बाद मैंने हनीफ को लिखा कि भारत ने पुलवामा हमले का बदला ले लिया। मैंने हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद लिखा था। साथ ही, हनीफ से जवाब देने के लिए कहा, लेकिन उसने कोई कमेंट नहीं किया।’’

रवि ने दावा किया कि 22 मार्च को मैं गांव में हनीफ से मिला। मैंने उससे अपने कमेंट का जवाब नहीं देने के बारे में पूछा तो हनीफ गाली-गलौज करने लगा। साथ ही, उसने देश के बारे में भी अभद्र टिप्पणी की। इससे मैं चिढ़ गया और हमारे बीच बहस होने लगी। शनिवार को जब मेरे परिजन हनीफ के घर बातचीत करने गए तो उन्होंने हम पर हमला कर दिया।

हनीफ के बड़े भाई मोहम्मद शरीफ ने रवि के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘‘हनीफ ने रवि के मैसेज का कोई जवाब नहीं दिया था, जिसके चलते वह हनीफ से उलझ गया। वह झूठे आरोप लगा रहा है कि हनीफ ने देश विरोधी टिप्पणी की थीं। शनिवार को रवि कुछ लोगों के साथ हमारे घर आया और हम पर हमला कर दिया।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App