ताज़ा खबर
 

28 सालों से जन्माष्टमी मना रहा है ये मुस्लिम परिवार, कहा- मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारा में बंट गए भगवान

कानपुर के रहने वाले डॉ एस अहमद ने बताया कि उनके घर में पूरे रीति-रिवाज के साथ भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन मनाया जाता है।

Author कानपुर | Published on: August 25, 2016 3:58 PM
पिछले 29 साल से जन्माष्टमी मना रहे डॉ अहमद (ANI Photo)

हिंदू-मुस्लिम को लेकर जारी बहस के बीच एक परिवार ऐसा भी है जो सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक है। यह परिवार पिछले 28 सालों से जन्माष्टमी मना रहा है। यूपी के कानपुर के रहने वाले डॉ एस अहमद, उनकी पत्नी और उनके तीनों बच्चे पिछले 28 साल से भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन मनाते आ रहे हैं। उनके घर में पूरे रीति-रिवाज के साथ भगवान श्री कृष्ण का जन्मदिन मनाया जाता है। अहमद ने बताया कि उनका परिवार और पड़ोसी हिंदू त्योहार मनाने के लिए उनके फैसले का दिल से स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि हिंदू त्योहार मनाना धार्मिक कट्टरता के खिलाफ एक संदेश है।

उन्होंने कहा कि आज भगवान कृष्ण का जन्मदिन है। हम हर साल भगवान कृष्ण से सिर्फ हमारे परिवार के लिए सुख-समृद्धि ही नहीं मांगते बल्कि क्षेत्र में रहने वालों के बीच प्यार, शांति और भाईचारे का संदेश जाए, इसकी भी प्रार्थना करते हैं। उन्होंने बताया कि त्योहार की सजावट में सब हमारी मदद करते हैं। उनके घर में भगवान श्री कृष्ण की सुसज्जित चौकी भी है, जहां पर उनका पूरा परिवार और पड़ोसी प्रार्थना करते हैं।

अहमद ने साम्रदायिक सौहार्द का संदेश देते हुए कहा कि भगवान श्री कृष्ण में मेरी और मेरे परिवार की बहुत श्रृद्धा है। साथ ही उन्होंने कहा,”मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारा ने बांट लिया भगवान को, नदियां बांटे, सागर बांटे मत बाटों इंसान को।” देश में एक ओर जहां हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच दीवर खड़ी करने की कोशिश की जा रही है, वहीं यह परिवार एक ऐसी मिसाल बनकर सामने आया है जो दूसरे धर्मों के प्रति सम्मान पेश करता है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि जन्माष्टमी के द्वारा हिंदू-मुस्लिम सुमदाय में शांति और प्यार बना रहे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ट्रक की टक्कर से दसवीं के छात्र की मौत, 3 अन्य घायल
2 Teacher की कथित छेड़छाड़ से तंग आकर छात्रा ने लगाई फांसी
ये पढ़ा क्‍या!
X