ताज़ा खबर
 

गलत कागज पर रह रहा BJP माइनॉरिटी सेल का बांग्लादेशी अध्यक्ष गिरफ़्तार, कांग्रेस ने साधा निशाना

मुंबई पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि अभी आरोपी को न्यायिक हिरासत में रखा गया है। उस पर फॉरेनर्स ऐक्ट और आईपीसी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: February 20, 2021 2:33 PM
Rubel Sheikh, BJPअवैध रूप से भारत में रह रहे बांग्लादेशी प्रवासी रुबेल शेख (बाएं) पिछले काफी समय से उत्तर मुंबई में भाजपा के अल्पसंख्यक सेल का अध्यक्ष था। (फोटो- इंडिया टुडे)

मुंबई पुलिस ने हाल ही में अवैध रूप से भारत में रह रहे एक बांग्लादेशी प्रवासी को गिरफ्तार किया है। खुलासा हुआ है कि यह व्यक्ति लंबे समय से भाजपा के नॉर्थ मुंबई माइनॉरिटी सेल के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहा था। आरोपी का नाम रूबल जोनू शेख बताया गया है और उस पर फर्जी कागजात के जरिए भारत में रहने का आरोप लगा है।

इसे लेकर अब कांग्रेस ने भाजपा पर हमलावर रुख अख्तियार कर लिया है। कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने ट्वीट में कहा, “भाजपा के कुछ पदाधिकारी गौमाता की तस्करी करते दिख चुके हैं। इसके अलावा कुछ पदाधिकारी पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई के एजेंट भी निकल चुके हैं। लेकिन अभी भाजपा ने और प्रगति की है। क्योंकि अभी उत्तर मुंबई का भाजपा का अल्पसंख्यक विंग का जो जिलाध्यक्ष है रुबेल शेख वो तो बांग्लादेशी निकल चुका है।”

सावंत ने पूछा क्या यह भाजपा का संघ जिहाद है। क्या सीएए कानून में भाजपा के लिए कुछ अलग प्रावधान अमित शाह जी ने किए हैं। निश्चित तौर पर देश में जनता के लिए अलग कानून होता है और भाजपा के लिए अलग कानून होता है। तो यहां हम यह सवाल पूछना चाहेंगे कि संघ जिहाद का जवाब भी भाजपा के नेता देंगे।

रुबेल शेख को पिछले हफ्ते मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर भालेराव शेखर ने कहा, “हमने आरोपी को फर्जी दस्तावेज बनवाने के लिए गिरफ्तार किया है। फर्जी दस्तावेजों के जरिए उसने फर्जी आधार कार्ड और पैन कार्ड भी बनवा ली। अभी उसे न्यायिक हिरासत में रखा गया है। उस पर फॉरेनर्स ऐक्ट और आईपीसी की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।”

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि रुबेल शेख बांग्लादेश के जसुर जिले के बोवालिया गांव का रहने वाला है। वह 2011 में बिना किसी दस्तावेज के भारत में घुसा था। आरोपी ने भाजपा के लिए काम किया और बाद में भाजपा उत्तर मुंबई अल्पसंख्यक सेल का अध्यक्ष बन गया। उसने इस दौरान फर्जी दस्तावेज भी तैयार करवा लिए।

आरोपी के घर की छानबीन में पुलिस को मालापोटा ग्राम पंचायत का निवास सर्टिफिकेट, हंसाखली का बर्थ सर्टिफिकेट और नादिया जिले का स्कूल सर्टिफिकेट मिले। यह तीनों ही जगह पश्चिम बंगाल में हैं। पुलिस की एक टीम इन सभी जगहों पर गई और जांच के दौरान यह सभी दस्तावेज फर्जी पाए गए।

Next Stories
1 बंगाल: अमित शाह को कोर्ट का समन, कहा- 22 को हाजिर हों
2 दस लाख की कोकीन रखने के आरोप में बंगाल भाजपा युवा मोर्चा महासचिव पामेला सहित तीन गिरफ्तार
3 बिना हेलमेट बाइक चलाना विवेक ओबेरॉय को पड़ा भारी, मुंबई पुलिस ने काट दिया चालान
ये पढ़ा क्या?
X