ताज़ा खबर
 

मुंबई: पीजी में रहने वाली लड़कियों की हिडेन कैमरे से वीडियो बनाता था मालिक, गिरफ्तार

कुछ दिनों बाद पीजी में रहने वाली लड़कियों ने कमरे में एक इलेक्ट्रिक एडेप्टर दिखाई दिया। जिस पर उन्हें शक हुआ, इस पर लड़कियों ने इस एडेप्टर पर एक कपड़ा डालकर इसे ढक दिया।

arrestप्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई में एक पीजी मालिक द्वारा लड़कियों के कमरे में खुफिया कैमरे लगाने और उनकी वीडियो और बातचीत रिकॉर्ड करने का मामला सामने आया है। मामले के खुलासे के बाद पुलिस ने आरोपी मकान मालिक को गिरफ्तार कर लिया है। खबर के अनुसार, साउथ मुंबई इलाके में स्थित 4 बेडरुम फ्लैट में 3 लड़कियां रह रहीं थीं। इस फ्लैट का मालिक एक 47 वर्षीय बिजनेसमैन व्यक्ति है, जो कि अविवाहित है और अपने माता-पिता के साथ रहता है। लड़कियों का आरोप है कि मकान मालिक ने उनकी कई वीडियो और ऑडियो क्लिप रिकॉर्ड की हुई हैं। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब एक बार मकान मालिक वो बात कही जो उन्होंने एक निजी बातचीत के दौरान कही थी। शुरुआत में लड़कियों को लगा कि मकान मालिक उनकी बातें चुपचाप सुन रहा है। जिसके बाद बात आयी-गई हो गई।

कुछ दिनों बाद पीजी में रहने वाली लड़कियों ने कमरे में एक इलेक्ट्रिक एडेप्टर दिखाई दिया। जिस पर उन्हें शक हुआ, इस पर लड़कियों ने इस एडेप्टर पर एक कपड़ा डालकर इसे ढक दिया। लेकिन एडेप्टर के ढकते ही मकान मालिक लड़कियों के कमरे में किसी बहाने से आया और पूछा कि उन्होंने एडेप्टर को क्यों ढका हुआ है। पीड़िताओं का कहना है कि मकान मालिक ने उन्हें बताया कि यह एडेप्टर उसके टीवी का एंटेना बूस्टर है। इस पर लड़कियों का शक गहरा गया और उन्होंने एडेप्टर की तस्वीर खींचकर उसे इंटरनेट पर सर्च किया कि कहीं इसमें कोई खुफिया कैमरा तो नहीं लगा है। इसके बाद पुष्टि होने पर लड़कियों ने इसकी शिकायत साउथ मुंबई के डीबी मार्ग स्थित पुलिस स्टेशन में दी। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी मकान मालिक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। हालांकि फिलहाल मकान मालिक को सशर्त जमानत मिल गई है।

पुलिस ने आरोपी मकान मालिक के खिलाफ आईपीसी की धाराओं और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि वह इसकी भी जांच कर रहे हैं कि आरोपी ने पीड़िताओं की कोई वीडियो फुटेज किसी अन्य के साथ शेयर तो नहीं की है। पुलिस का कहना है कि आरोपी के पास से साल भर पहले के फुटेज बरामद हुए हैं। पुलिस ने पीड़िताओं की पहचान गोपनीय रखी है। बहरहाल लोगों को सलाह है कि जो लोग पीजी में रह रहे हैं, उन्हें खुफिया कैमरों का ध्यान रखने की जरुरत है। जिसके लिए इलेक्ट्रिक प्लग, पंखे के रेगुलेटर, टेबल क्लॉक, बल्ब और मोबाइल चार्जर आदि में खूफिया कैमरा हो सकता है।

Next Stories
1 जब इंदिरा से बोले अटल- पांच मिनट में तो आप अपने बाल भी ठीक नहीं कर सकतीं, हमसे कैसे निपटेंगी?
2 UP: दिव्यांग बोला- अखिलेश को वोट दूंगा, भाजपा नेता ने की मुंह में डंडा डालने की कोशिश, VIDEO VIRAL
3 जन्मदिवस विशेष : 5 ऐसे फैसले, जिन्होंने वाजपेयी जी को ‘अटल’ बना दिया…
चुनावी चैलेंज
X