ताज़ा खबर
 

Mumbai: मलाड दीवार हादसे में चमत्कार, झोपड़ी से आधा किमी दूर सलामत मिला 6 महीने का बच्चा

आयुष के 25 वर्षीय पिता उत्तम शर्मा ने बताया, 'हम आयुष के साथ अपने घर में सोए थे। इससे पहले कि हम कुछ समझ पाते, हमने खुद को पानी में बहते हुए पाया।

Author मुंबई | July 4, 2019 6:20 AM
मुंबई (फोटो सोर्स: ANI)

मुंबई के मलाड स्थित पिंपरीपाड़ा में भारी बारिश के चलते दीवार गिरने से हुए हादसे में कई लोगों की जान चली गई। लेकिन इस दौरान कुछ चमत्कार भी देखने को मिले। मंगलवार (2 जुलाई) को तड़के हुए इस दर्दनाक हादसे में छह महीने का एक बच्चा चमत्कारिक तरीके से बच गया। आयुष नाम का एक बच्चा अपने मम्मी-पापा के साथ सो रहा था इसी दौरान दीवार ढह गई। दीवार ढहने के बाद यहां जमा हुआ पानी पास की झुग्गियों में घुस आया था। आयुष के मम्मी-पापा पानी के साथ बह गए। यहां रहने वाले कई लोग या तो बह गए थे या मलबे में फंस गए।

पिता ने बताया कैसा था मंजरः आयुष के 25 वर्षीय पिता उत्तम शर्मा ने बताया, ‘हम आयुष के साथ अपने घर में सोए थे। इससे पहले कि हम कुछ समझ पाते, हमने खुद को पानी में बहते हुए पाया। मैं और मेरी पत्नी ने एक-दूसरे को और बच्चे को पकड़ने की कोशिश की लेकिन पानी की मजबूत धारा हमें एक-दूसरे से अलग करके बहा ले गई। लेकिन सौभाग्यवश, आयुष झोपड़ी से आधे किलोमीटर दूर जीवित मिला। यह एक चमत्कार जैसा था। मेरी पत्नी भी जीवित बच गई।’ हालांकि आयुष के अन्य रिश्तेदार सौभाग्यशाली नहीं थे।

26 तक पहुंची मृतकों की संख्याः शर्मा नें कांपती हुई आवाज में कहा, ‘उनकी मौत मलबे में फंसने से हो गई। आयुष को इस घटना में चोट नहीं आई, उसके मम्मी-पापा को हल्की चोटें आई हैं और उनका इलाज अलग-अलग सरकारी अस्पतालों में हो रहा है। वहीं अधिकारियों ने बताया है कि इस घटना में मरने वालों की संख्या 26 तक पहुंच गई है। करीब 72 लोगों का अभी इलाज चल रहा है और 23 को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जहरीली शराब पर योगी सरकार की सख्तीः स्टॉक करने, बेचने और ले जाने वाले पर NSA और गैंगस्टर एक्ट के तहत होगी कड़ी कार्रवाई
2 हज यात्राः केंद्रीय मंत्री नकवी की मौजूदगी में IGI एयरपोर्ट से रवाना हुआ पहला जत्था, इस साल सबसे ज्यादा लोग जाएंगे मक्का
3 Jammu-Kashmir: 2014 से 2018 के बीच मारे गए 800 आतंकी, मोदी सरकार ने लोकसभा में किया खुलासा