ताज़ा खबर
 

Mumbai: किले में तब्दील हुआ मुंबई का बागी विधायकों वाला होटल, DK की ‘नो एंट्री’ पर भड़क गए पूर्व PM देवगौड़ा

होटल पर काफी देर तक गहमागहमी और नाटकीय घटनाक्रम चलता रहा। कुछ घंटे बाहर खड़े होने के बाद कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री होटल के परिसर की दीवार पर बैठ गए।

Author मुंबई | July 11, 2019 2:08 AM
कर्नाटक में JDS-Congress सरकार बचाने में जुटे डीके शिवकुमार (फोटो- एएनआई)

मुंबई के जिस आलीशान होटल में कर्नाटक के बागी विधायक ठहरे हुए हैं, उसे लगभग किले में तब्दील कर दिया गया है और चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। पोवई क्षेत्र में स्थित ‘रेनेसांस होटल’ के बाहर बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी मौजूद हैं। वहीं होटल में एक कमरा बुक कराने वाले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार को होटल में प्रवेश नहीं करने दिया गया। होटल प्रबंधन ने आपातकालीन स्थिति का हवाला देते हुए उनकी बुकिंग कैंसिल कर दी। होटल ने ईमेल में यह जानकारी देते हुए कहा कि बुकिंग कैंसिलेशन के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

भड़के पूर्व पीएम ने दिया ऐसा बयानः कुमारस्वामी सरकार को बचाने गए डीके शिवकुमार को जब होटल में एंट्री नहीं मिली तो पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा भड़क गए। उन्होंने मौजूदा हालातों को आपातकाल से भी बदतर करार दे दिया। वहीं शिवकुमार ने जबर्दस्ती वापस भेजे जाने की घटना को शर्मनाक करार दिया।

दीवार पर बैठ गए कर्नाटक के मंत्रीः होटल पर काफी देर तक गहमागहमी और नाटकीय घटनाक्रम चलता रहा। कुछ घंटे बाहर खड़े होने के बाद कर्नाटक के जल संसाधन मंत्री होटल के परिसर की दीवार पर बैठ गए। कांग्रेस के संकटमोचक कहे जाने वाले डीके शिवकुमार के कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार बचाने के प्रयास में सुबह बागी विधायकों से मिलने पर जोर देने के बाद से इस होटल के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई।

मिलिंद देवड़ा और संजय निरूपम भी पहुंचेः होटल परिसर में घुसने वाले हर वाहन की पूरी तरह से जांच की जा रही है। होटल आने वालों में कुछ स्थानीय कांग्रेस नेता भी शामिल थे। मुंबई कांग्रेस के नेता गणेश यादव महाराष्ट्र के पहले पार्टी नेता थे जो सुबह करीब 11 बजे शिवकुमार से मिले। इसके बाद, स्थानीय कांग्रेस विधायक नसीम खान, पार्टी नेता मिलिंद देवड़ा और संजय निरूपम दिन में करीब एक बजे होटल के बाहर पहुंचे।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App