ताज़ा खबर
 

Mumbai Bridge Collapse: खुद की जान देकर बेटे ने यूं बचाई बाप की जिंदगी, जनाजे में नहीं पहुंच पाया घायल पिता

Mumbai CST bridge collapse: मुंबई में फुट ओवरब्रिज हादसे के दौरान एक बेटे ने अपनी जान गवांकर पिता को हादसे का शिकार होने से बचा लिया। इस हादसे में 6 लोग मारे गए थे।

मुंबई ब्रिज हादसे में 6 लोगों की मौत फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Mumbai Bridge Collapse: मुंबई में फुट ओवरब्रिज का एक बड़ा हिस्सा गिरने से गुरुवार (14 मार्च) को 6 लोगों की मौत जबकि करीब 30 लोग घायल हो गए थे। इस दौरान एक बेटे ने अपनी जान गवांकर पिता को हादसे का शिकार होने से बचा लिया। बताया जा रहा है कि जिस समय पुल का एक हिस्सा गिर रहा था, उस समय बेटे ने अपने पिता को धक्का दे दिया, जिससे पिता की जान तो बच गई लेकिन पुल के मलबे में दबकर बेटे की मौत हो गई।

बेटे ने अपनी जान देकर बचाई पिता की जान: दरअसल, गुरुवार शाम छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन के पास बने फुट ओवरब्रिज का एक बड़ा हिस्सा जब गिरने लगा तो घाटकोपर निवासी जाहिद खान (32) ने अपने पिता सिराज को धक्का देकर पीछे धकेल दिया। लेकिन इस हादसे में खुद वह गिरते हुए मलबे की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक जाहिद के पिता सिराज के पड़ोसी मकसूद खान ने कहा, “अगर जाहिद ने अपने पिता को धक्का नहीं दिया होता, तो वह भी मर जाता। वे बच गए क्योंकि जो स्लैब का मलबा गिरा था, वह उनसे थोड़ा आगे निकल गए थे।”

 

मृतक जाहिद के भाई का बयान: मुंबई ब्रिज हादसे में जान गंवाने वाले जाहिद के चचेरे भाई ने बताया कि जाहिद अपने पीछे माता-पिता, एक छोटे भाई, पत्नी और दो बेटियों को छोड़ कर गए हैं। उन्होंने बताया कि जाहिद की एक बेटी छह साल की और दूसरी बेटी सिर्फ आठ महीने की है।

हादसे में सिराज की पीठ में हुआ फ्रैक्चर: हादसे का शिकार होने वाले सिराज के पड़ोसी मकसूद ने बताया कि उनकी पीठ और छाती में चोट लगी थी। सिराज सेंट जॉर्ज अस्पताल में भर्ती होने के कारण अपने बेटे की अंतिम यात्रा पर भी नहीं जा सके। मक़सूद ने उम्मीद की जल्द ही सिराज अस्पताल से वापस लौट आएंगे। उन्होंने बताया कि फ्रैक्चर की वजह से वह ठीक से बैठ भी नहीं सकते।  (श्रीनाथ राव)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App