ताज़ा खबर
 

दाऊद के फोन कॉल मामला में एकनाथ खडसे को एटीएस से क्लीन चिट, ‘आप’ ने लगाया था आरोप

महाराष्ट्र पुलिस ने एकनाथ खडसे को क्लीन चिट देते हुए कहा कि उनके फोन से दाऊद को ना तो कोई कॉल किया गया ना ही उसपर इस तरह का कोई कॉल आया।
Author मुंबई | May 23, 2016 01:23 am
महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे। (FILE PHOTO)

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के फोन कॉल से जुड़े विवाद के सिलसिले में महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे को रविवार (22 मई) को दो मोर्चे पर राहत मिली। उन्हें पुलिस ने क्लीन चिट दिया और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस उनके बचाव में उतर आए। पुलिस ने उन्हें क्लीन चिट देते हुए कहा कि उनके फोन से दाऊद को ना तो कोई कॉल किया गया ना ही उसपर इस तरह का कोई कॉल आया। साथ ही फडणवीस ने अपने सहयोगी का बचाव करते हुए आम आदमी पार्टी के आरोप को ‘बेबुनियाद’ बताकर खारिज कर दिया।

मुंबई के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) अतुलचंद्र कुलकर्णी ने कहा, ‘सेल फोन नंबर (खडसे का) की हमारी शुरुआती जांच में संकेत मिला कि सितंबर 2015 से अप्रैल 2016 के बीच इस नंबर से भगोड़े अपराधी (दाऊद) को ना तो कोई कॉल किया गया ना ही उस पर उधर से कोई कॉल आया जैसा कि (आप के) संवाददाता सम्मेलन में बताया गया था।’

आप की प्रवक्ता प्रीति शर्मा मेनन ने शनिवार (21 मई) को आरोप लगाया था कि खडसे को चार सितंबर, 2015 से पांच अप्रैल 2016 के बीच दाऊद की पत्नी महजबीं शेख के फोन नंबर 021-35871639 से कई कॉल आए। उन्होंने साथ ही दावा किया था कि मुख्यमंत्री ने पुलिस से मामले की जांच करने को कहा था। खडसे ने आरोपों को ‘बेबुनियाद’ बताकर खारिज करते हुए कहा कि उनके उस फोन नंबर का पिछले एक साल से कोई इस्तेमाल नहीं किया जा रहा था।

फडनवीस ने रविवार (22 मई) रात कहा, ‘एटीएस प्रमुख की रिपोर्ट बहुत साफ है। एकनाथ खडसे के मोबाइल फोन से ना तो भगोड़े (गैंगस्टर) को, ना ही किसी अन्य को कोई अंतरराष्ट्रीय कॉल किया गया या उसपर कोई कॉल आया। बगैर ठोस साक्ष्य के किसी वरिष्ठ मंत्री को निशाना बनाना उचित नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘हम ऐसे कार्य (आप द्वारा आरोप लगाए जाने की) की निंदा करते हैं और उम्मीद करते हैं कि राजनीति में मानदंडों को कायम रखा जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.