ताज़ा खबर
 

पार्टी कार्यकर्ताओं ने लोस चुनाव में ‘सत्यानाश’ कर दिया: मुलायम सिंह

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव का लोकसभा चुनावों में मिली शर्मनाक पराजय का दर्द उभरकर सामने आ गया। मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं से यहां तक कह डाला कि उन्होंने ‘सत्यानाश’ कर दिया। मुलायम ने कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव में आपने कहीं का नहीं रखा। अगर 40-45 सीटें जीत जाते तो केंद्र में आपकी सरकार […]

Author March 24, 2015 12:21 PM
मुलायम सिंह यादव के परिवार वाले ही इस प्रस्तावित विलय के विरोध में खड़े हो गए हैं। उनकी दलील है कि राजनीति के इन पिटे हुए मोहरों को साथ लेने से क्या हासिल होगा?

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव का लोकसभा चुनावों में मिली शर्मनाक पराजय का दर्द उभरकर सामने आ गया। मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं से यहां तक कह डाला कि उन्होंने ‘सत्यानाश’ कर दिया।

मुलायम ने कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव में आपने कहीं का नहीं रखा। अगर 40-45 सीटें जीत जाते तो केंद्र में आपकी सरकार होती। कांग्रेस भी आपका समर्थन करती। सारा सत्यानाश कर दिया।’’ वह पार्टी मुख्यालय पर डा. राम मनोहर लोहिया के नाम पर बने सम्मेलन कक्ष का उद्घाटन करने के बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में सपा उत्तर प्रदेश में 80 में से केवल पांच सीटें ही जीत पायी। आजमगढ़ सीट से मुलायम खुद जीते जबकि उनकी बहू डिम्पल यादव, भतीजे धर्मेन्द्र यादव और अक्षय यादव तथा पोते तेज प्रताप सिंह यादव क्रमश: कन्नौज, बदायूं, फिरोजाबाद और मैनपुरी सीटों से चुनाव जीते।

पार्टी कार्यकर्ताओं की बीच बीच में नारेबाजी से नाराज मुलायम ने शिक्षक के रूप में नसीहत देते हुए कहा, ‘‘पार्टी में ‘चापलूसों’ की भरमार है। अच्छी बात पर ताली बजायें, नारे ना लगायें तो ठीक है। कितनी बार कहा कि अच्छी बात पर ताली बजायें, नारे नहीं। यह अनुशासनहीनता अच्छी नहीं।’’

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Apple iPhone 8 64 GB Silver
    ₹ 60399 MRP ₹ 64000 -6%
    ₹7000 Cashback

राज्य में पार्टी की सरकार एक बार फिर बनाने की चुनौती स्वीकारने का आह्वान कार्यकर्ताओं से करते हुए मुलायम ने कहा कि सरकार बनाने की बड़ी चुनौती हमारे सामने है। सरकार ना बनी तो अच्छा नहीं होगा।

लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार की वजह बताते हुए सपा प्रमुख ने कहा, ‘‘बाबर की 13 हजार की फौज थी, जिसने भारत पर कब्जा कर लिया क्योंकि उसकी सेना अनुशासित थी, हमारी सेना बंटी हुई थी। अनुशासन में रहेंगे तो चुनाव जीत जाएंगे।’’

उन्होंने कार्यकर्ताओं को ये नसीहत भी दी कि अगर वे बेदाग रहेंगे तो लंबी राजनीति कर सकते हैं अन्यथा अब लंबी राजनीति नहीं की जा सकती।

मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे विपक्षी दलों के दुष्प्रचार से सतर्क रहें। हर कोई सपा पर हमला कर उसे कमजोर करना चाहेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में भाजपा का विकल्प कांग्रेस नहीं बन सकती बल्कि सपा ही विकल्प है। यह सबसे बड़ी पार्टी है और ये भाजपा को रोक सकती है।’’

मुलायम ने उलाहना देते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि वह इस बात को जानते हैं कि वे सम्मेलनों में ना तो कुछ लिखते हैं और ना ही उन्हें पार्टी संविधान और घोषणापत्र की कोई जानकारी है। उन्होंने कहा, ‘‘आप सबको पार्टी संविधान और 2012 के विधानसभा चुनावों के लिए तैयार पार्टी का घोषणापत्र पढ़ना चाहिए। आपको जनता को बताना चाहिए कि सपा सरकार ने क्या किया है और किस तरह उसने अपने सभी चुनावी वायदे पूरे किये हैं।’’

इससे पहले मुख्यमंत्री एवं सपा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि कई नारे देने के बावजूद हर किसी को पता है कि जमीनी हकीकत क्या है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सरकार ने जनता के कल्याण के लिए कई कदम उठाये। हम 45 लाख लोगों को समाजवादी पेंशन दे रहे हैं तथा 108 और 102 एंबुलेंस सेवा हर किसी को उपलब्ध है। ऐसा नहीं है कि जिन्हें लाभ मिला, वे सपा के कार्यकर्ता बन जाएं। आपको जनता को ये बात समझानी होगी।’’

अखिलेश ने कार्यकर्ताओं को आगाह किया कि वे मोबाइल और समाचार चैनलों से सावधान रहें क्योंकि वे अच्छाई के बावजूद कहीं न कहीं भ्रम की स्थिति पैदा कर देते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App