ताज़ा खबर
 

क्या खत्म होगी समाजवादी पार्टी की कलह, मुलायम-अखिलेश की बैठक में पहुंचे शिवपाल यादव

आज सुबह दिल्ली से लखनऊ के लिए रवाना हुए थे यूपी के सपा प्रदेश अध्यक्ष

समाजवादी पार्टी आंतरिक कलह से जूझ रही है।

समाजवादी पार्टी में चल रहे घमासान को शांत कराने की कोशिशें तेज हो गई हैं। लखनऊ में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच बातचीत चल रही है। अखिलेश यादव पिता मुलायम सिंह के घर पहुंचे हैं। इसी बीच शिवपाल यादव भी बैठक में पहुंच चुके हैं। इससे पहले आई रिपोर्ट्स में कहा गया था कि मुलायम सिंह के खेमे से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खेमे ने बातचीत की है। कहा जा रहा है कि इसके बाद मुलायम सिंह ने अपने खेमे से बात कर बाकी नेताओं से राय ली थी। उन्होंने पार्टी से निकाले गए सांसद अमर सिंह से भी इस बारे में राय ली थी।

आज सुबह मुलायम सिंह यादव लखनऊ  के लिए रवाना  हुए थे। सूत्रों के मुताबिक उन्होंने सुलह के लिए बेटे अखिलेश यादव से फोन पर बातचीत भी की है। दूसरी ओर शिवपाल यादव भी लखनऊ के लिए रवाना हुए थे। वहीं अमर सिंह ने भी बाप-बेटे के साथ आने का समर्थन किया था। वहीं यूपी के शहरी विकास मंत्री आजम खां ने कहा है कि सुलह की सारी कोशिशें जारी रहेगी। बातचीत के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं, समाजवादी पार्टी में सब मुमकिन है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार (30 दिसंबर) को बहुत बड़ी कार्रवाई करते हुए अपने पुत्र एवं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से छह-छह साल के लिये निष्कासित कर दिया था। सपा प्रमुख ने मुख्यमंत्री अखिलेश और महासचिव रामगोपाल को कारण बताओ नोटिस जारी करने के महज पौन घंटे के अंदर संवाददाता सम्मेलन करके दोनों को पार्टी से निकालने का फरमान सुना दिया था। उन्होंने कहा कि पार्टी बचाने के लिये उन्हें ऐसा सख्त कदम उठाया है। मुलायम ने रामगोपाल द्वारा आगामी एक जनवरी को पार्टी के राष्ट्रीय प्रतिनिधि सम्मेलन बुलाये जाने को अवैध करार देते हुए कहा था कि इसका अधिकार केवल राष्ट्रीय अध्यक्ष को है। रामगोपाल के कदम से पार्टी को नुकसान हुआ है और चूंकि रामगोपाल के कृत्य में अखिलेश का भी समर्थन है, इसलिये उन्हें भी पार्टी से छह साल के लिये निकाल दिया गया है।

समाजवादी पार्टी विवाद: किसे मिलेगा ‘साइकिल’ का चिन्ह? जानिए चुनाव आयोग इन तरीकों से कर सकता है फैसला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X