ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने लगाए थे टैपिंग के आरोप, कोर्ट ने मोदी और ममता सरकार से मांगा जवाब

पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा फोन टैप किये जाने संबंधी भाजपा नेता मुकुल रॉय के आरोपों पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने 20 नवंबर को केंद्र और राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि दोनों इस संबंध में सील बंद लिफाफे में अपना जवाब सौंपे।

Author नई दिल्ली | November 20, 2017 1:14 PM
दिल्ली हाईकोर्ट

पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा फोन टैप किये जाने संबंधी भाजपा नेता मुकुल रॉय के आरोपों पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने 20 नवंबर को केंद्र और राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि दोनों इस संबंध में सील बंद लिफाफे में अपना जवाब सौंपे। न्यायमूर्ति विभु बाखरु ने केंद्र, राज्य सरकार और रॉय की टेलीफोन सेवा प्रदाता कंपनियों….. एमटीएनएल और वोडाफोन से कहा है कि वे हफलनामा दायर कर बतायें कि क्या एजेंसियों द्वारा मुकुल रॉय के फोन की निगरानी की जा रही है या फिर उनके फोन कॉल को पकडा जा रहा है। अदालत ने कहा, यदि ऐसा किया जा रहा है तो एक सील बंद लिफाफे में इसका कारण भी बताया जाए।

अदालत ने उनसे कहा कि वे दो सप्ताह के भीतर अपने हलफनामे दायर करें। मामले की अगली सुनवाई सात दिसंबर को होनी तय हुई है। आज सुनवाई के दौरान केंद्र और पश्चिम बंगाल की ओर से पेश हुए वकीलों ने याचिका का विरोध करते हुए कहा कि यदि कोई सुनवाई होनी भी है तो यह पश्चिम बंगाल की अदालत में होनी चाहिए।

तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद ने आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल में रहने के दौरान उन्होंने पाया कि स्थानीय पुलिस हमेशा उनकी गतिविधियों पर नजर रखती रही है। रॉय हाल ही में तृणमूल छोडकर भाजपा में शामिल हुए हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App