scorecardresearch

मर्डर मिस्ट्री सुलझाने के लिए पंडोखर बाबा के दरबार पहुंची एमपी पुलिस, वीडियो वायरल हुआ तो ASI पर गिरी गाज

MP Police: पुलिस ने मृतका के परिजनों की शिकायत पर तीनों युवकों को हिरासत मे लेकर पूछताछ की। लेकिन तीनों युवकों की लोकेशन घटनास्थल पर घटना के दिन नहीं मिली। जिसके बाद पुलिस ने पंडोखर बाबा की शरण ली।

मर्डर मिस्ट्री सुलझाने के लिए पंडोखर बाबा के दरबार पहुंची एमपी पुलिस, वीडियो वायरल हुआ तो ASI पर गिरी गाज
मध्य प्रदेश पुलिस पहुंची बाबा का सहारा लेने (Photo Source- Screengrab/ News 24)

MP Police: मध्य प्रदेश में पुलिस अपराधियों को ढूंढने के लिए बाबा का सहारा लेने पहुंच गयी। छतरपुर जिले में पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए तफ्तीश करने के बजाय पंडोखर बाबा से आरोपियों के नाम जानने की कोशिश की। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद मामले से जुड़े एएसआई को निलंबित कर दिया गया।

छतरपुर में 17 साल की युवती की हत्या की गुत्थी सुलझाने पंडोखर सरकार धाम में बाबा के पास पहुंची पुलिस ने बाबा के ज्ञान के आधार पर एक आदमी को गिरफ्तार भी कर लिया। पुलिस ने मृतक लड़की के चाचा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं इस घटना का जब वीडियो वायरल हुआ तो छतरपुर पुलिस अधीक्षक ने इस मामले से जुड़े एएसआई अशोक शर्मा को सस्पेंड कर थाना प्रभारी को लाइन अटैच कर दिया।

कुएं में तैरती हुई मिली थी लाश: छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र के ओटा पुरवा में हरीराम अहिरवार की 17 साल की बेटी का शव 28 जुलाई को मिला था। घर से लापता लड़की की लाश दो दिन बाद संदिग्ध परिस्थितियों में कुएं में तैरती हुई मिली थी। मृतक लड़की के परिजनों ने गांव के ही सजातीय तीन लड़को पर लड़की के साथ गैंगरेप के बाद हत्या करके लाश को कुएं में फेंकने का आरोप लगाया था।

मृतका के चाचा को किया गिरफ्तार: 17 वर्षीय नाबालिग लड़की 12वीं में आरडीएस स्कूल बमीठा में पढ़ती थी। वह अपने दादा-दादी के पास घर में रहती थी। मृतक के परिजनों ने गांव के युवक रवि अहिरवार, गुड्डा उर्फ राकेश अहिरवार, अमन अहिरवार पर हत्या के आरोप लगाए थे। बाबा पंडोखर के ज्ञान के आधार पर बिना किसी छानबीन के पुलिस ने मृतका के चाचा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने खुलासे में दावा किया कि आरोपी चाचा को भतीजी के चरित्र पर शक था, इसलिए उसने गला घोंटकर हत्या कर शव कुएं में फेंक दिया।

जिसके बाद मृतका के परिजनों ने मामले की शिकायत एसपी से की। जिसके बाद एसपी सचिन शर्मा ने वीडियो के अनुसार एएसआई अशोक शर्मा को सस्पेंड कर दिया। साथ ही बमीठा थाना प्रभारी पंकज शर्मा को लाइन अटैच करते हुए आगे की जांच करने के लिए खजुराहो एसडीओपी मनमोहन सिंह बघेल को जिम्मेदारी दी गई है। इसके साथ ही एसपी ने मामले की छानबीन करने के आदेश भी दिए हैं। वहीं बमीठा पुलिस धारा 363 में केस दर्ज इस मामले की जांच में जुट गई है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट