ताज़ा खबर
 

MP: 95 साल के किसान पर पुलिस ने लगाया ने बिजली चोरी कर फरार होने का आरोप, कोर्ट ने देखते ही दी जमानत

पुलिस उन पांच सालों से फरार होने का आरोप लगा रही है लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक वे पिछले 19 सालों से चलने-फिरने में भी सक्षम नहीं हैं।

Author Updated: January 10, 2019 8:17 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश में पुलिस ने जिस शख्स बिजली चोरी के बाद पिछले पांच सालों से फरार बताया था वो चलने-फिरने में भी सक्षम नहीं निकला। मामला गुना जिले के विजयपुर थाना क्षेत्र के कनारी गांव का है। यहां के रहने वाले नन्नूलाल यादव पर खेत में सिंचाई के लिए चोरी की बिजली से मोटर चलाने का आरोप लगा था। पुलिस के मुताबिक 2014 से ही फरार है। तब से ही नन्नूलाल यादव के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है।

19 सालों से बिस्तर पर हैं नन्नूलालः पुलिस की गंभीरता पर उस समय सवाल उठ गए जब नन्नूलाल को इस मामले में कोर्ट में पेश किया गया। दरअसल पुलिस उन पांच सालों से फरार होने का आरोप लगा रही है लेकिन रिपोर्ट्स के मुताबिक वे पिछले 19 सालों से चलने-फिरने में भी सक्षम नहीं हैं। मजबूर किसान का बेटा उन्हें गोद में लेकर कोर्ट पहुंचा तो हर किसी को तरस आ गया। हालांकि कोर्ट ने उनकी हालत देखते ही जमानत पर रिहा कर दिया।

…इसलिए पुलिस पर उठे सवालः बिजली चोरी का मामला काफी लंबा खींच गया था। ऐसे में कोर्ट ने पुलिस पर दबाव बनाया तो पुलिस ने आरोपी नन्नूलाल को गिरफ्तार बता दिया और कोर्ट में पेशी करवा दी। नन्नूलाल यादव की उम्र और स्थिति देखकर पुलिस की इस कार्रवाई पर कई तरह के सवाल खड़े हो गए हैं। बूढ़े किसान के बेटे ने उन्हें कोर्ट में ही जमानत के बाद दवा भी दी। उल्लेखनीय है कि देश में बिजली चोरी का मुद्दा अभी भी प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गाजियाबादः चोरी के बाद पाइप के सहारे उतर रहा था युवक, 9वीं मंजिल से गिरकर हुई मौत
2 मध्य प्रदेशः बैठक से निकाले जाने पर बोले उपसचिव- भूत की तरह पीछे लगा है ‘खान’ सरनेम
3 नेशनल लाइवस्टॉक मिशन के तहत ऑस्ट्रेलिया से उत्तराखंड आयात होंगी भेड़, 8.5 करोड़ है बजट
जस्‍ट नाउ
X