ताज़ा खबर
 

एमपीः लॉकडाउन के दौरान शादी करनी पड़ी भारी, पुलिस ने शादी में शामिल लोगों से कराई मेढ़क कूद

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में एक शादी में शामिल होने आए मेहमानों ने सोचा भी नहीं की होगा कि समारोह में शामिल होने के लिए उनसे क्या करवाया जाएगा?

बारातियों को पुलिस ने मेंढ़क कूद करवाई। (स्क्रीनशॉट)।

मध्य प्रदेश के भिंड जिले में एक शादी में शामिल होने आए मेहमानों ने सोचा भी नहीं की होगा कि समारोह में शामिल होने के लिए उनसे क्या करवाया जाएगा? उनमें से एक समूह को पुलिस द्वारा मेंढक कूद कराई गई। दरअसल पुलिस ने विवाह स्थल पर छापा मारा था। पुलिस यह पता लगाने पहुंची थी कि लॉकडाउन के नियमों का पालन किया जा रहा है या नहीं।

कोविड लॉकडाउन प्रतिबंधों का स्पष्ट उल्लंघन करते हुए उमरी गांव में शादी में लगभग 300 लोग मौजूद थे। जब पुलिस मौके पर पहुंची, तो उनमें से कई भागने में सफल रहे लेकिन पुलिस ने उनमें से कुछ को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस द्वारा पकड़े गए लोगों को एक खेत के किनारे एक सड़क पर मेंढक कूद कराई गए। एक वीडियो में लगभग 17 लोगों को ऐसा करते देखा जा सकता है। एक पुलिस वाले को सही तरीके से नहीं कूदने के लिए एक आदमी को उसकी पीठ पर मारते हुए देखा जा सकता है। सजा के बाद, उन्हें लॉकडाउन प्रतिबंध तक ऐसी किसी भी सभा में शामिल न होने की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। पिछले हफ्ते बिहार के किशनगंज में भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला, जब एक दर्जन युवकों को अपनी कोहनी पर रेंगने और एक बाजार के ठीक बीच में मेंढक कूदने के लिए मजबूर किया गया था।


मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 5,065 नए मामले सामने आए हैं। जिससे इस संक्रमण के मामलों की संख्या 7.47 लाख से अधिक हो गई। राज्य में इस वायरस से अब तक 7,227 लोगों की मौत हो चुकी है। मालूम हो कि मध्य प्रदेश के सागर जिले में कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने लिए लगे कोरोना कर्फ्यू के दौरान सब्जी खरीदने बाजार आयी एक महिला द्वारा मास्क नहीं पहनने पर कथित रूप से कुछ पुलिस कर्मियों ने सड़क पर उसकी पिटाई कर दी और बाल पकड़कर घसीटा।

यह घटना सागर जिले के रहली कस्बे में सोमवार को हुई और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर डाले जाने के बाद पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस महिला ने कथित रूप से पहले एक महिला पुलिसकर्मी पर हमला किया था।

पुलिस ने इस महिला व उसकी बेटी को मास्क नहीं पहने होने के कारण सोमवार पूर्वाह्न करीब करीब 11 बजे बाजार में रोका था एवं खुली जेल में भेजने के लिए उसे पुलिस जीप में बिठाने का प्रयास किया था। इस दौरान इस महिला ने विरोध किया और कथित रूप से वहां मौजूद एक महिला पुलिसकर्मी के चेहरे पर चोट आ गई थी।

Next Stories
1 असमः जिस IPS अधिकारी पर नाबालिग के यौन शोषण के आरोप, उसी को बना दिया गया SP
2 पानी की किल्लत में भूल गए महामारी, टैंकर से पानी भरने की जल्दी में नहीं लगाए मास्क; सोशल डिस्टेंसिंग भी रही गायब
यह पढ़ा क्या?
X