ताज़ा खबर
 

शादी और धर्म: हरियाणा में निकाह के लिए हिंदू से मुस्लिम बना लड़का; एमपी में दो साल पहले जिसके साथ भागी थी उसे अब कराया गिरफ़्तार

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले से एक शख्स को धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम, 1968 की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। शख्स पर अपनी प्रेमिका का धर्म बदलने की कोशिश करने के आरोप हैं। शहडोल पुलिस के मुताबिक महिला दो साल पहले 32 वर्षीय इरशाद खान के साथ भागी थी। दोनों तब से लिव-इन में रह […]

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: December 2, 2020 1:11 PM
Madhya pradesh freedom of religion act, faith, conversion, hindu women, harrasment, arrest, booked, culture, madhya pradesh freedom of religion act 1968, arabic languages,महिला के धर्म को बदलने की कोशिश करने वाला प्रेमी गिरफ्तार। (सांकेतिक तस्वीर)

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले से एक शख्स को धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम, 1968 की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। शख्स पर अपनी प्रेमिका का धर्म बदलने की कोशिश करने के आरोप हैं। शहडोल पुलिस के मुताबिक महिला दो साल पहले 32 वर्षीय इरशाद खान के साथ भागी थी। दोनों तब से लिव-इन में रह रहे थे।

धनपुरी के पुलिस उपखंड अधिकारी (SDOP)भरत दुबे ने कहा “महिला के प्रेमी के साथ भागने के बाद उसके माता-पिता ने पुलिस से संपर्क किया था। शिकायत के बाद पुलिस ने उन्हें ढूंढ निकाला था, लेकिन महिला नाबालिग नहीं थी और वह इरशाद के साथ रहना चाहती थी। इसीलिए अदालत ने उन्हें साथ रहने की अनुमति दे दी थी।”

एसडीपीओ भरत दुबे के मुताबिक, 27 नवंबर को पीड़िता अपने पिता के घर लौटी थी। महिला ने शिकायत की कि इरशाद उसे अपनी संस्कृति के अनुकूल होने के लिए मजबूर कर रहा है। दुबे ने बताया कि अन्य बातों के अलावा, उसने आरोप लगाया कि आरोपी उसे अरबी सीखने के लिए मजबूर कर रहा था।

इस आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 498ए और मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता कानून की धारा 3,4 और 5 के तहत के दर्ज किया। वहीं हरियाणा के यमुनानगर में एक मुस्लिम युवक ने हिंदू लड़की से शादी करने के लिए अपना धर्म परिवर्तन किया है। युवक ने एक मंदिर में हिंदू धर्म अपनाया और हिंदू रीति-रिवाजों के साथ लड़की से शादी की।

शादी के बाद दोनों ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में कहा था कि उन्हें जान को खतरा है। जिसके बाद हाई कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद यमुनानगर पुलिस की सुरक्षा में रखा गया है। 9 नवंबर को दोनों ने लड़की के घरवालों की मर्जी के खिलाफ मंदिर में शादी की। लड़की के घरवालों को जब दोनों की शादी की जानकारी हुई तो उन्होंने दोनों को धमकी देनी शुरू कर दी।

लड़के का आरोप है कि लड़के का परिवार उन दोनों को अंजाम भुगतने की धमकी दे रहा है। उनका कहना है कि मौका मिलते वे दोनों को मार देंगे, जिसके बाद दोनों ने हाई कोर्ट में अपील की। हाई कोर्ट ने कपल को सुरक्षा देने का आदेश दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 किसानों की समस्या का हल नहीं हुआ तो किसी भी केंद्रीय मंत्री को महाराष्ट्र में घुसने नहीं देंगे, शेतकारी संगठन ने दी धमकी
2 राज्यसभा उपचुनाव: लोजपा ने ठुकराया राजद का ऑफर, RJD में उम्मीदवार उतारने पर एक राय नहीं, आज पर्चा भरेंगे सुशील मोदी
3 उर्मिला मातोंडकर के सियासी सफर की दूसरी पारीः अब ज्वॉइन कर ली Shivsena, साल भर पहले छोड़ा था कांग्रेस का हाथ
Indi vs Aus 4th Test Live:
X