ताज़ा खबर
 

एमपी सरकार उपलब्ध कराएगी बेहतरीन चिकित्सा सुविधाएं, इलाज के लिए दूसरे राज्यों में नहीं भागना होगा

जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनने से पूरे महाकौशल अंचल के लोगों को उच्च-स्तरीय चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। पिछले कुछ दिनों में कृषि के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है।

Author जबलपुर | Published on: September 22, 2019 5:45 PM
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में बेतहरीन चिकित्सा सुविधाएं विकसित की जाएंगी, ताकि लोगों को इलाज के लिए दूसरे राज्यों में नहीं जाना पड़े। कमलनाथ ने शनिवार को नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज परिसर में 150 करोड़ रुपये की लागत से तैयार 220 बिस्तरों वाले सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का लोकार्पण किया। इस अवसर उन्होंने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में प्रदेश को पूरे देश में अव्वल बनाने के लिए सरकार विशेष प्रयास कर रही है।

कृषि क्षेत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए : जबलपुर में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनने से पूरे महाकौशल अंचल के लोगों को उच्च-स्तरीय चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले नौ माह में कृषि क्षेत्र को उन्नत बनाने और किसानों को बेहतर लाभ देने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

Uttar Pradesh Rains, Weather Forecast Today Live Updates: उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की खबरों के लिए क्लिक करें

मेडिकल की 800 सीटे बढ़ाई गईं: उन्होंने कहा कि नौजवानों को रोजगार और उनके बेहतर भविष्य के साथ किसानों का कल्याण राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस अवसर पर प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने कहा कि कमल नाथ के नेतृत्व में प्रदेश के चिकित्सा क्षेत्र को एक नया आयाम मिला है। डॉक्टरों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए चिकित्सा महाविद्यालयों में 800 सीटें बढ़ाई गई हैं।

National Hindi News, 22 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

काग्रेस को सत्ता खोने का भी डर :  गौैरतलब है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस सत्ता में पंद्रह साल बाद वापसी की है। वह भी पूर्ण बहुमत में नहीं है। इसलिए कमलनाथ सरकार का हर कदम बहुत सोच समझकर उठा रही है, ताकि उनकी  सरकार पर किसी भी प्रकार का खतरा न हो। 231 सीट वाले विधानसभा में कांग्रेस 114 सीटों पर जीत हासिल कर सत्ता पर काबिज हुई थी। जबकि बीजेपी 108 सीटों पर जीत दर्ज कर विपक्ष की भूमिका में हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली सरकार के Odd-Even योजना से पर्यावरण को कितना हुआ नफा-नुकसान, बताएगी IIT दिल्ली
2 यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा- प्रियंका गांधी के सवालों से डरती है भाजपा, नहीं दे पा रही कोई जवाब
3 RPF में हुई अब तक की सबसे बड़ी भर्ती, शामिल किए गए 10,500 जवान, कॉन्स्टेबल की 50 फीसदी सीटें महिलाओं के लिए थी आरक्षित