ताज़ा खबर
 

MP: जबरन कर्जमाफी से भड़के किसान, कमल नाथ सरकार को दी सामूहिक खुदकुशी की चेतावनी

किसानों का कहना है कि उन्होंने कर्ज लिया ही नहीं फिर भी जबरन उनके नाम कर्जमाफी की सूची में डाल दिए गए। वहीं कुछ किसानों का कहना है कि उनकी तरफ से लिए गए कर्ज को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया गया है।

loan waiver scheme, madhya pradeshमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो सोर्स : PTI)

मध्य प्रदेश में सरकार बनने के बाद 10 दिन में किसानों की कर्जमाफी के ऐलान को कांग्रेस की जीत का सूत्रधार माना जा रहा था। मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण के चंद घंटों बाद ही इसका आधिकारिक ऐलान भी कर दिया गया। लेकिन जब कर्जमाफी के लिए चयनित किसानों की सूची जब गांव में पहुंची तो कई किसान कमल नाथ सरकार से नाराज हो गए। सागर जिले के हिलगन गांव में किसानों ने बेवजह कर्जमाफी की सूची में नाम डाले जाने से नाखुश होकर सामूहिक खुदकुशी की चेतावनी दी है।

क्या है फर्जी लोन का यह मामलाः कई किसानों का कहना है कि उन्होंने कर्ज लिया ही नहीं फिर भी जबरन उनके नाम कर्जमाफी की सूची में डाल दिए गए। वहीं कुछ किसानों का कहना है कि उनकी तरफ से लिए गए कर्ज को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया गया है। इतना ही नहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक जो किसान मर चुके हैं उनके भी नाम इस सूची में दर्ज हैं। गांव के किसानों ने जल्द से जल्द मामला नहीं सुलझने पर सामूहिक खुदकुशी करने की चेतावनी दे डाली है।

सीएम ने जताई 2000 करोड़ के घोटाले की आशंकाः मामला सामने आने के बाद मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से भी प्रतिक्रियाएं आई हैं। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा, ‘यह फर्जीवाड़ा कई सालों से चल रहा था। मुमकिन है करीब दो हजार करोड़ रुपए का फर्जीवाड़ा किया गया हो।’ वहीं राज्य सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने कहा, ‘फर्जी कर्ज की जांच शुरू कर दी गई है। कर्ज नहीं लेने वालों को कोई परेशानी नहीं होगी।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल, कहा- पर्रिकर को देना चाहिए इस्तीफा, नली लगाकर काम करना शोभा नहीं देता
2 गाय सिर्फ एक जानवर, उसे माता कहने वालों के दिमाग में भरा है गोबर : पूर्व जस्टिस काटजू
3 Bihar : गांधी मैदान में 28 साल बाद कांग्रेस की रैली, कई दलों को ‘बंधन’ में बांधने पहुंचे राहुल गांधी
ये पढ़ा क्या...
X