ताज़ा खबर
 

CM कमलनाथ का दिवाली गिफ्ट: पत्नी, बेटी या बहू को प्रॉपर्टी में हिस्सेदार बनाओ, महज 1100 में होगी रजिस्ट्री

कमलनाथ सरकार राज्य में महिलाओं को जायदाद में हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए दिवाली से पहले एक तोहफा दिया है। इससे उन्हें मालिकाना हक भी मिलेगा और अधिकार भी बढ़ेगा। सरकार की इस पहल से महिलाओं में खुशी है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश की सरकार महिलाओं को जायदाद में हिस्सेदार बनाने पर रजिस्ट्री में छूट देने का फैसला किया है। इसके तहत महिलाओं को मालिकाना हिस्सेदार बनाने पर रजिस्ट्री का खर्च सिर्फ 1100 रुपए देने पड़ेंगे। सरकार इस मामले में अचल संपत्ति के सहस्वामित्व विलेख के खर्च में संशोधन करने जा रही है। दिवाली से पहले सरकार की ओर से महिलाओं को यह बड़ा तोहफा माना जा रहा है। हालांकि इससे राजस्व में जो कमी आएगी, सरकार उसे कैसे पूरा करेगी, यह बड़ा सवाल है।

पत्नी, बेटी या बहू – सभी पर लागू होगा नियम : इस फैसले से राज्य की महिलाओं को जायदाद में मालिकाना हक बढ़ेगा और खर्च कम होगा। राज्य सरकार चाहती है कि परिवार के पुरुष सदस्य अगर अपनी पत्नी, बेटी या बहू को अपनी अचल संपत्ति में हिस्सेदार बनाते हैं तो उन्हें रजिस्ट्री में फायदा दिया जाएगा। सत्ता में आने से पहले उन्होंने ऐसा करने का वादा किया था। अचल संपत्ति खरीदने पर लोगों को भारी भरकम रजिस्ट्री का खर्च चुकाना पड़ता था। इस फैसले से लोगों को काफी राहत मिलेगी।

National Hindi News, 13 October 2019 Top Headlines Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

महिलाओं को 50 फीसदी तक अधिकार देने की तैयारी : मध्य प्रदेश के सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने बताया कि इस फैसले से महिलाओं की बातों को घर के बाहर भी महत्व दिया जाएगा। बताया कि सरकार महिलाओं को 50 फीसदी तक अधिकार देने की तैयारी में है। रोजगार, व्यापार और ठेकेदारी में उन्हें आगे लाने की नीति पर काम किया जा रहा है। इससे घर और घर के बाहर भी महिलाओं का सम्मान और बढ़ेगा।

बीजेपी का आरोप, सिर्फ भ्रम है योजना : दूसरी तरफ बीजेपी ने कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया है कि उसने महिलाओं के लिए पुरानी सरकार की तमाम योजनाओं को बंद कर दिया। इसमें गर्भवतियों को 16 हजार रुपए देने की योजना, स्वसहायता समूह आदि शामिल हैं। उसे बंद कर सरकार ने एक तरफ महिलाओं का नुकसान किया है तो दूसरी तरफ जायदाद की रजिस्ट्री में छूट देकर केवल उन्हें भ्रमित करने जैसा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजस्थानः बीकानेर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, घरों से घबराकर बाहर निकले लोग
2 पत्नी से कहा- शराब पी और मॉडर्न कपड़े पहन, इनकार किया तो नाराज हो गया पति, बोला- तलाक, तलाक, तलाक
3 जिंदगी बर्बाद हो गया…भोपाल के शख्स ने एक RTI डाल मांगी जानकारी, डाक विभाग ने दिए 360 जवाब
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit