ताज़ा खबर
 

कोरोना काल में BJP सांसद को VIP ट्रीटमेंट? दफ्तर में स्टाफ-समर्थकों को टीका मिलने का आरोप

उधर, तराना से कांग्रेस विधायक महेश परमार ने इसे मुद्दा बनाया और बीजेपी नेता पर निशाना साधा। आरोप लगाया कि सांसद आम लोगों के अधिकार को छीन रहे हैं।

कोरोना संकट के बीच देश में टीके का टोटा फिलहाल बना हुआ है। बेंगलुरू में एक टीकाकरण केंद्र के बाहर हेल्थ वर्कर से पूछताछ करता दंपति। (फाइल फोटोः पीटीआई)

मध्य प्रदेश के उज्जैन से BJP के सांसद अनिल फिरोजिया पर बड़ा आरोप लगा है। कहा जा रहा है कि उनके ठिकाने पर हेल्थ टीम ने जाकर उनके स्टाफ और समर्थकों को वैक्सीन लगाई।

महाकाल की नगरी में यह मामला तब सामने आया, जब घटना से जुड़ी कुछ तस्वीरें लोगों के सामने आईं। इनमें बीजेपी सांसद अनिल फिरोजिया के समर्थक टीका लगवाते नजर आ रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तस्वीरें फिरोजिया के सेठी नगर स्थित दफ्तर की थीं, जो कि शुक्रवार को सोशल मीडिया के जरिए सामने आ गई थीं। स्थानीयों ने आरोप लगाया कि सांसद के दफ्तर पर हेल्थ स्टाफ की टीम दो बार पहुंची, जहां पर 14 कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई गई। कहा जा रहा है कि इन कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर खुद के टीका पाने से जुड़े फोटोज अपलोड किए थे, जिसके बाद यह पूरा मामला सामने आया और तूल पकड़ी।

उधर, तराना से कांग्रेस विधायक महेश परमार ने इसे मुद्दा बनाया और बीजेपी नेता पर निशाना साधा। आरोप लगाया कि सांसद आम लोगों के अधिकार को छीन रहे हैं। साथ ही कहा, “हम आरोप लगा रहे थे कि रेमडेसिविर इंजेक्शन, अस्पतालों में बेड में हुई गड़बड़ी/कालाबाजारी के पीछे सांसद हैं और आज यह बात साबित भी हो गई।”

वैसे, यह मसला ऐसे वक्त पर सामने आया है, जब Coronavirus संकट काल में टीके का टोटा फिलहाल बरकरार है। अधिक मांग के बीच कम पड़ती वैक्सीन के चलते आम लोग परेशान हो रहे हैं। 18+ वाले CoWin App पर रजिस्ट्रेशन के बाद भी वे स्लॉट नहीं हासिल कर पा रहे, जबकि कई सूबों में 45+ वालों को टीका केंद्रों से निराश होकर लौटना पड़ रहा है।

बता दें कि देश में एक दिन में 3,26,098 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद कोविड-19 के मामले बढ़कर 2,43,72,907 हो गए हैं, जबकि 3,890 और मरीजों की मौत होने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 2,66,207 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, कोविड-19 का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या गिरकर 36,73,802 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 15.07 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर सुधरकर 83.83 प्रतिशत हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 2,04,32,898 हो गई है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.09 प्रतिशत दर्ज की गई है। (पीटीआई-भाषा इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 सांसों का संकटः RUHS में चंद मिनट्स को ऑक्सीजन सप्लाई हुई ठप्प, तो तड़पने लगे मरीज; चली गईं 3 जानें
2 MP: होम क्वारंटीन पीड़िता के घर आधी रात घुस आए थे दरिंदे, चाकू-कटर और कैंची के बल पर किया गैंगरेप, फिर लूटपाट कर हुए फरार
3 कोरोना: डॉक्टर नहीं हैं तो यहां सरकार ने नीम-हकीमों को दी इलाज की जिम्मेदारी, बेख़ौफ मरीज देख रहे झोलाछाप डाक्टर्स
यह पढ़ा क्या?
X